Monday , June 14 2021 8:33 AM
Home / Hindi Lit / कविता : अपने आप से लड़ता मैं

कविता : अपने आप से लड़ता मैं

मनोज अबोध

अपने आप से लड़ता मैं
यानी, ख़ुद पर पहरा मैं

वो बोला-नादानी थी
फिर उसको क्या कहता मैं

जाने कैसा जज़्बा था
माँ देखी तो मचला मैं

साथ उगा था सूरज के
साँझ ढली तो लौटा मैं

वो भी कुछ अनजाना-सा
कुछ था बदला-बदला मैं

झूठ का खोल उतारा तो
निकला सीधा सच्चा मैं

 

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This