Thursday , April 18 2024 6:46 AM
Home / Hindi Lit / कहानी

कहानी

प्रेरणात्मक कहानी: इस सीख को अपनाएंगे तो गूंजने लगेगा जयकार नाद

भावनगर के राजा एक बार गर्मियों के दिनों में अपने आम के बागों में आराम कर रहे थे। वह बहुत ही खुश थे कि उनके बागों में बहुत अच्छे आम लगे थे और ऐसे में वह अपने ख्यालों में खोए हुए थे। तब वहां से गरीब किसान गुजर रहा था और वह बहुत भूखा था। उसका परिवार पिछले 2 दिनों …

Read More »

दुनिया को बदलने का इरादा रखने वाले अवश्य पढ़ें यह प्रेरणात्मक कहानी

अपटॉन सिंक्लेयर का जन्म बेहद गरीब परिवार में हुआ था। उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में हिम्मत न हारते हुए अपनी लेखन की रुचि को जीवित रखा। वह इतने गरीब थे कि कई बार उनके पास घर का किराया चुकाने तक के पैसे नहीं होते थे। अक्सर परिवार को भूखा ही सो जाना पड़ता था। 10 साल की उम्र तक गरीबी के …

Read More »

हनुमान जी की मां से हुई भूल , बन गई अप्सरा से वानरी

एक बार देवराज इंद्र की सभा स्वर्ग में लगी हुई थी। इसमें दुर्वासा ऋषि भी भाग ले रहे थे। जिस समय सभा में विचार-विमर्श चल रहा था उसी समय सभा के मध्य ही ‘पुंजिकस्थली’ नामक इंद्रलोक की अप्सरा बार-बार इधर से उधर आ-जा रही थी। सभा के मध्य पुंजिकस्थली का यह आचरण ऋषि दुर्वासा को अच्छा न लगा। दुर्वासा ऋषि …

Read More »

रावण की मृत्यु उपरांत उनके वंशज बसे थे यहां, मंदोदरी बनी विभीषण पत्नी

वाल्मीकि रामायण के अनुसार मंदोदरी का विवाह दशानन रावण के साथ हुआ था। वह ऋषि कश्यप के पुत्र मायासुर की गोद ली हुई पुत्री थी। रंभा नाम की अप्सरा मंदोदरी की माता थी। मंदोदरी रामायण के पात्र, पंच-कन्याओं में से एक हैं और उन्हें चिर-कुमारी कह कर पुकारा गया है। अपने पति दशानन के मनोरंजन हेतु इन्होंने शतरंज खेल की …

Read More »

गुरू आज्ञा का पालन करने के लिए शिष्यों ने पार की विचित्र कसौटियां

ऋषि धौम्य के आश्रम में कई छात्र रहते थे। वह उन्हें पूरी तत्परता से पढ़ाते, साथ ही उनकी कड़ी परीक्षा भी लेते रहते थे। इन परीक्षाओं में अलग-अलग कसौटियां तय की जातीं और देखा जाता कि विद्यार्थी सीखी गई विद्या और गुरु के प्रति कितना निष्ठावान है। एक दिन मूसलाधार वर्षा हो रही थी। गुरु ने अपने एक छात्र आरुणि …

Read More »

किसी को सजा देने से पहले ध्यान रखें ये बात

न्यूयॉर्क के न्यायालय परिसर में लोग खचाखच भरे हुए थे। उपस्थित लोग कौतूहलवश मेयर लागाड़ियों की तरफ देखे जा रहे थे। वह बस मुकद्दमे का फैसला सुनाने ही वाले थे। उधर अपराधी कटघरे में चुपचाप मुंह लटकाए खड़ा था। उसने चोरी की थी और वह भी किसी सामान या रुपए-पैसे की नहीं, बल्कि अपने पेट की आग को शांत करने …

Read More »

इस हंस को देखने से धन बढ़ता जाता है, कभी दरिद्रता का सामना नहीं करना पड़ता

एक धनी किसान था। उसे विरासत में खूब सम्पत्ति मिली थी। अत्यधिक धन-सम्पदा ने उसे आलसी बना दिया। वह सारा दिन खाली बैठा हुक्का गुडग़ुड़ाता रहता था। उसकी लापरवाही का नौकर-चाकर नाजायज लाभ उठाते थे। उसके संगे-संबंधी भी उसका माल साफ करने में लगे रहते थे। एक बार किसान का एक पुराना मित्र उससे मिलने आया। वह उसके घर की …

Read More »

विवशता

• सुमन कुमार घई पैराग्रीन बाज़ों के जोड़े ने शहर के मध्य एक ऊँची इमारत की खिड़की के बाहर कंक्रीट की शेल्फ़ को अपने अंडे देने के लिए चुना था। पता नहीं प्रकृति की गोद की चट्टान की बजाय शहर की चट्टानी इमारत उन्हें अपने बच्चे पालने के लिए क्यों अच्छी लगी थी। शहर के समाचार पत्रों में सुर्खियाँ थीं, …

Read More »

अकबर के दरबार में चारण बना Star, देखें क्या आप में है ऐसी खूबी

एक बार मेवाड़ के राजा का एक चारण अकबर के दरबार में पहुंचा। बादशाह का अभिवादन करने से पहले उसने अपनी पगड़ी उतार दी। पगड़ी उतारकर अभिवादन करने से अकबर को क्रोध आ गया लेकिन खुद को नियंत्रित करते हुए उन्होंने कहा, ‘राजपूत राजा का चारण होने के कारण तुम्हें राजदरबार के नियम-कायदे की समझ तो होगी ही। तुम्हें पता …

Read More »

कन्फ्यूशियस को एक स्त्री की इस बात ने किया हैरान, जानकर आप भी करेंगे सलाम

अब से सैंकड़ों वर्ष पहले की घटना है। एक बार चीन के महान दार्शनिक कन्फ्यूशियस अपने कुछ शिष्यों के साथ ताई नामक पहाड़ी से कहीं जा रहे थे। एक स्थान पर वह सहसा रुक गए। शिष्यों ने जिज्ञासु नेत्रों से उनकी ओर देखा। वे बोले, ‘‘कहीं पर कोई रो रहा है।’’ इतना कहकर वे रुदन को लक्ष्य करके चल पड़े। …

Read More »