Monday , May 17 2021 9:35 AM
Home / News / India / भारत के सबसे बड़े गोला-बारूद केंद्र में आग, 20 जवानों की मौत

भारत के सबसे बड़े गोला-बारूद केंद्र में आग, 20 जवानों की मौत

CjwMFMvWgAAelVyमहाराष्ट्र के वर्धा जिले में बने इस एम्युनिशन डिपो में रात करीब 2 बजे आग लगी।
मुंबई/वर्धा.महाराष्ट्र के पुलगांव में सेना के सेंट्रल एम्युनिशन डिपो में आग लगने से 2 अफसरों समेत 20 की मौत हो गई। ये सभी डिफेंस सिक्युरिटी कोर के अफसर-जवान थे। हादसे में 19 अन्य घायल हैं। आसपास के 6-7 गांवों को खाली कराया गया है। करीब 1 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। आधी रात के बाद लगी आग पर काबू पाने की कोशिशें जारी हैं। यह भारत का सबसे बड़ा और एशिया का दूसरा बड़ा गोला-बारूद डिपो है। रुक-रुक कर आ रही है धमाकों की आवाज…
– डिपो से अभी भी यहां रुक-रुक कर धमाकों की आवाज आ रही है।
– वर्धा के पास जहां डिपो है, वह जगह नागपुर से 110 किमी दूर है।
– सेवाग्राम और सवांगी के डॉक्टरों को अलर्ट पर रखा गया है।
– डिफेंस अफसरों के मुताबिक, एम्युनिशन डिपो के एक शेड में आग लगी है। हालांकि, जहां से आग शुरू हुई थी, वहां उसे बुझा दिया गया है।
– अधिकारियों ने कुछ और जगहों पर आग भड़कने और धमाकों की आशंका से इनकार नहीं किया है।
– आग के कारणों का पता लगाने के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) बना दी गई है।
– बता दें पुलगांव का सेंट्रल एम्युनिशन डिपो देश के सबसे बड़े गोला-बारूद और हथियार डिपो में से एक है।
– डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर यहां का दौरा कर सकते हैं।
– सेना चीफ दलबीर सिंह भी वर्धा जाएंगे।
इन्होंने गंवाई जान

– डिपो में लगी को बुझाने की कोशिश में जिन दो अफसरों की जान चली गई, उनमें लेफ्टिनेंट कर्नल आरएस पवार और मेजर मनोज शामिल हैं।
इन्होंने हादसे पर दुख जताया

– नरेंद्र मोदी ने हादसे पर कहा, ”पुलगांव में आग लगने की घटना से मैं दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति है। मैंने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर से मौके पर जाने और जायजा लेने को कहा है।”
– कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी और वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने हादसे पर अफसोस जताया है।
– महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि हादसे पर अफसोस है। हम पूरी तरह मदद मुहैया करा रहे हैं। आग को काबू किया जा रहा है।
28 किमी इलाके में फैला है डिपो का कैम्पस
– पुलगांव का सेंट्रल एम्युनिशन डिपो 28 किमी इलाके में फैला है।
– इसकी सिक्युरिटी का जिम्मा डिफेंस सिक्युरिटी कोर (DSC) के पास होता है।
– मेन डिपो में आग लगने के बाद 15 किमी के दायरे में आने वाले गांवों को खाली करा लिया गया।
डिपो में हैं कई बंकर
– इस डिपो में हथियारों और गोला-बारूद को स्टोर करने के लिए कई बंकर बनाए गए हैं।
– एक-एक बंकर में पांच से छह हजार किलोग्राम तक गोला-बारूद रखा जाता है।
– डिफेंस एक्सपर्ट हेमंत महाजन के मुताबिक, यह भारत का सबसे बड़ा और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा गोला-बारूद डिपो है। यहां क्रंकीट के कई मजबूत बंकरों में गोला-बारूद रखा गया है।
– उन्होंने बताया कि शायद शॉर्ट सर्किट के चलते आग लगी हो। लेकिन इस डिपो में पहले धमाका हुआ था। आग बुझाने की कोशिश में अफसरों-जवानों की मौत हुई है

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This