Monday , January 25 2021 1:00 AM
Home / Spirituality / जब सभी की सहमति से करना हो काम तो ध्यान रखें इन बातों का

जब सभी की सहमति से करना हो काम तो ध्यान रखें इन बातों का

sr_5किसी विषय में यदि निर्णय हमें अकेले लेना हो तो दिक्कत कम होगी पर यदि सबकी सहमति लेनी हो तो चुनौती शुरू हो जाती है। खासतौर पर यदि हम किसी समूह में काम कर रहे हों और सभी लोगों की सहमति लेनी हो। किसी विषय पर सभी की राय का सम्मान करना हो तो बड़ी सावधानी रखनी पड़ती है। एेसे मौके पर यदि आप नेतृत्व कर रहे हों और समूह में सभी की सहमति पर काम करना हो या आप नेतृत्व न करके सामान्य स्थिति में हों, उस स्थिति में भी अपने प्रस्ताव के विकल्प पर जरूर काम करिए। वजह यह है कि आप कोई प्रस्ताव लेकर आए और यदि सब उससे सहमत नहीं हुए तो या तो वह प्रस्ताव हाशिए पर पटक दिया जाएगा या उसकी तत्काल हत्या हो जाएगी। इसलिए सदैव विकल्प लेकर चलें।

सबकी सहमति के मामले में समझदार आदमी अपना विकल्प बहुत अच्छे से तैयार रखता है। दूसरा काम यह करें कि जब आपके प्रस्ताव पर समूह में विरोध हो तो विरोध करने वाले के व्यक्तित्व पर न टिकें, उसकी मानसिकता को समझें। यदि व्यक्तित्व पर टिकेेंगे तो हमारे भीतर ईर्ष्या पैदा हो सकती है। उसकी मानसिकता पढ़ेंगे तो हम परिपक्वता के साथ विरोध को समझेंगे। उसी विरोध के साथ अपना विकल्प स्थापित कर सकेंगे। आज हमारे परिवारों में कलह का बड़ा कारण यही है कि आपसी सहमति नहीं हो पाती और सब एक-दूसरे से उलझ जाते हैं। यदि हमें परिवार बचाना है तो एक-दूसरे के प्रति सहमत होना ही पड़ेगा। उसके लिए विकल्प और मानसिकता प्रस्तुत करना आना चाहिए। एक-दूसरे के व्यक्तित्व की जगह मानसिकता को समझना पड़ेगा। इतनी समझदारी आ गई तो परिवार का प्रत्येक सदस्य असहमत होने के बाद भी एक साथ प्रेम से रह सकेगा।

About Digital Seva

Pin It on Pinterest

Share This