Sunday , February 5 2023 1:34 PM
Home / News / चीन के अरबपति बिजनेसमैन और अलीबाबा के फाउंडर जैक मा जापान में, जिनपिंग की आलोचना के बाद से थे गायब

चीन के अरबपति बिजनेसमैन और अलीबाबा के फाउंडर जैक मा जापान में, जिनपिंग की आलोचना के बाद से थे गायब


टोक्‍यो: चीन में जारी लॉकडाउन और विरोध प्रदर्शनों के बीच एक और बड़ी खबर आ रही है। देश के सबसे ताकवर बिजनेसमैन और सबसे अमीर शख्‍स जैक मा इन दिनों जापान की राजधानी टोक्‍यो में हैं। जैक मा करीब छह महीने से सेंट्रल टोक्‍यो में रह रहे हैं। वह दुनिया की सबसे बड़ी टेक्‍नोलॉजी कंपनी अलीबाबा के फाउंडर हैं। साल 2021 में जब उनके गायब होने की खबरें दुनिया में आईं तो हर कोई हैरान रह गया। हर कोई जानना चाहता था कि आखिर जैक मा कहां हैं। फाइनेंशियल टाइम्‍स की तरफ से जानकारी दी गई है कि जैक मा अपने परिवार के साथ जापान में रह रहे हैं।
लो प्रोफाइल जीवन – जैक मा के ठिकाने की जानकारी रखने वाले लोगों की मानें तो टोक्‍यो में जैक मा काफी लो प्रोफाइल जिंदगी जी रहे हैं। वह अपना पर्सनल शेफ और सिक्‍योरिटी साथ लेकर आए हैं। साथ ही सार्वजनिक तौर पर भी बहुत कम ही नजर आते हैं। जापान में कई महीनों के निवास के दौरान जैक मा अपने परिवार के साथ गर्म पानी के झरने से लेकर स्‍की रिसॉर्ट तक गए हैं।
इसके अलावा टोक्‍यो के बाहर वह अमेरिका और इजरायल भी गए हैं। दो साल पहले चीन की एजेंसियों की तरफ से कड़े नियम लागू किए गए थे। इसके बाद जैक मा ने इन नियमों की कड़ी आलोचना की गई थी। जैक मा ने देश के केंद्रीय बैंकों पर साहूकार की मानसिकता तक रखने का आरोप लगाया था। इसके बाद से ही जैक मा की कंपनियों ऐंट और अलीबाबा को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।
जैक मा को मिली सजा – चीनी एजेंसी ने एंट की 37 अरब डॉलर वाली पब्लिक ऑ‍फरिंग को बंद कर दिया था। साथ ही अलीबाबा पर भी 2.8 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया था। चीन में इस साल जब राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने जीरो कोविड नीति लागू की तो एक बार फिर उनके गायब होने की खबरें आई थीं। जीरो कोविड पॉलिसी की वजह से अप्रैल और मई में शंघाई और आसपास के यांग्‍तजी नदी में लॉकडाउन लगाया गया। इन जगहों पर इस समय काफी बड़े स्‍तर पर प्रदर्शन जारी है। शंघाई के पास एक शहर हांग्जो में जैक मा एक घर है और यहीं पर अलीबाबा का मुख्यालय है।
सख्‍त नियमों के खिलाफ – चीनी अधिकारियों के साथ टकराव के बाद से ही मा को स्पेन और नीदरलैंड सहित विभिन्न देशों में देखा गया है। जैक मा चीन के कड़े क्‍वारंटाइन नियमों के खिलाफ हैं। ऐसे में अगर वह देश लौटते हैं तो उनके लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इसके अलावा वह देश की राजनीतिक मुद्दों से भी बचना चाहते हैं। उनकी सोशल एक्टिविटीज के तहत प्राइवेट क्‍लबों में शामिल होना शामिल है। इनमें से एक क्‍लब टोक्यो के स्वाश गिन्जा जिले में स्थित है और दूसरा इंपीरियल पैलेस वाले मारुंची में है। गिन्जा क्लब में चीन के सबसे अमीर लोग आते हैं। ये वो लोग हैं जो या तो टोक्‍यो में रहने लगे हैं या फिर किसी दूसरे देश की यात्रा से आते हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This