Sunday , July 25 2021 8:19 PM
Home / News / भाई के साथ निकाह से मना करने पर पाकिस्तानी लड़की की हत्या

भाई के साथ निकाह से मना करने पर पाकिस्तानी लड़की की हत्या


इटली में पाकिस्तानी मूल की एक लड़की की हत्या का मामला फिर सुर्खियों में है। इस केस में मृत लड़की के रिश्तेदारों की भूमिका संदेह के घेरे में है। इटली पुलिस ने मृतका के परिवार वालों और रिश्तेदारों का पता लगा लिया है। पुलिस ने आशंका जताई है कि तथाकथित ऑनर किलिंग में 18 वर्षीय समन अब्बास के परिवार वालों ने उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके शव को खेत में दफन कर दिया था। डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार समन अब्बास 1 मई 2021 से लापता है। सीसीटीवी में कैमरे में उसे आखिरी बार सेंट्रल इटली के रेजियो एमिलिया शहर के पास एक खेत में देखा गया था जहाँ उसके पिता शब्बर (46) काम करते थे।
पुलिस का कहना है कि शब्बर ने इटली से भागने से पहले समन की माँ नाजिया शाहीन (47), चाचा हसनैन दानिश (33), चचेरे भाई नोमानुलहक (33) और एजाज इकराम (28) के साथ मिलकर उसकी हत्या करने और लाश को खेत में दफनाने की साजिश रची। पुलिस के मुताबिक समन ने पाकिस्तान में अपने चचेरे भाई के साथ शादी करने से इनकार कर दिया था, क्योंकि उसका इटली में एक बॉयफ्रेंड था और वह ‘वेस्टर्न’ लाइफस्टाइल जीना चाहती थी जिसके बाद रिश्तेदारों ने उसकी हत्या की साजिश रची।
एक चचेरे भाई एजाज को फ्रांस में गिरफ्तार किया गया है जिसे इटली को सौंप दिया गया है। वहीं, समन के मां-बाप शब्बर और नाजिया पाकिस्तान में हैं। उन्होंने अपनी बेटी की हत्या से इंकार किया है। अभियोजकों का कहना है कि हसनैन ही हत्या का मास्टरमाइंड है और नोमानुलहक अभी तक फरार है। अभियोजकों को भी इन पाँचों पर समन की हत्या करने और शव को ठिकाने लगाने का संदेह है लेकिन अभी तक कोई साक्ष्य नहीं मिला है। उनका कहना है कि मामला पिछले साल सर्दियों का है जब समन के परिवार वाले उसे पाकिस्तान में उसके चचेरे भाई से अरेंज मैरिज करने के लिए मजबूर कर रहे थे। इसके बाद समन अपने घर से भाग गई थी और अपने परिवार वालों के डर से वह अक्टूबर से सामाजिक कल्याण के लिए चलाए जा रहे एक रिफ्यूजी कैंप में रह रही थी।
रिपोर्ट के मुताबिक नवह इस साल 11 अप्रैल 2021 को अपने घर पहचान पत्र लेने के लिए लौटी थी हालाँकि यह स्पष्ट नहीं है कि उसे आवश्यकता क्यों थी। पुलिस का मानना है कि 26 अप्रैल तक समन के परिवार वालों ने उसकी हत्या की तैयारी शुरू कर दी थी। अभियोजकों का कहना है कि यह वही तारीख है जिस दिन समन के चाचा हसनैन ने उसके माता-पिता के लिए पाकिस्तान वापस जाने के लिए एयर टिकट खरीदा था। 29 अप्रैल की शाम को सीसीटीवी कैमरे में तीन लोगों को देखा गया था। पुलिस का कहना है कि ये हसनैन, नोमानुलहक और एजाज थे जो उस दिन शाम को लगभग 7.30 बजे खेत के पीछे घूमते हुए नजर आए थे। तीनों के पास दो फावड़े, एक बाल्टी और एक नीले रंग का थैला था और लो​हे का डंडा था।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This