Thursday , May 30 2024 5:31 AM
Home / Lifestyle / मां-बाप कर लेंगे ये 5 काम, तो जंक फूड को हाथ तक नहीं लगाएगा आपका बच्‍चा

मां-बाप कर लेंगे ये 5 काम, तो जंक फूड को हाथ तक नहीं लगाएगा आपका बच्‍चा


जिन खाद्य पदार्थों में कोई एनर्जी नहीं होती है, उन्‍हें फास्‍ट फूड या जंक फूड कहा जाता है। इनमें बहुत ज्‍यादा फैट, शुगर और नमक होता है और इनमें प्रोटीन, फाइबर, विटामिनों और खनिज पदार्थों की बहुत कमी होती है। हालांकि, बच्‍चों के आहार में जंक फूड जरूर शामिल होता है। वहीं जब बच्‍चे कोई एक्‍सरसाइज नहीं करते हैं, तो इससे उन्‍हें मोटापे, कब्‍ज, नींद आने में दिक्‍कत और डायबिटीज जैसी कई बीमारियां होने का खतरा रहता है।
बच्‍चों में जंक फूड की बढ़ती हुई लत ने पैरेंट्स को परेशान कर रखा है और बच्‍चों को संतुलित आहार खिलाना मां-बाप के लिए चुनौती बन गई है। हालांकि, कुछ तरीकों और सहायक माहौल की मदद से आप अपने बच्‍चे में हेल्‍दी ईटिंग हैबिट्स डाल सकते हैं।
मील को प्‍लान करें-
बच्‍चे को संतुलित आहार खिलाने के लिए आपको सबसे पहले उसकी मील प्‍लान करनी होगी। उदाहरण के तौर पर आप बच्‍चे के लंच बॉक्‍स का मेन्‍यू पहले से ही तैयार रखें ताकि आप उसके लिए जरूरी इंग्रेडिएंट्स पहले से ही लाकर रख पाएं। आपको पूरे सप्‍ताह का मील प्‍लान बनाना है।
थोड़ा इनोवेटिव बनें – खाने को आकर्षक और दिखने में टेस्‍टी बनाने के लिए मेहनत लगती है लेकिन कुछ आसान स्‍टेप्‍स से आप इस काम को सरल बना सकते हैं। मान लीजिए कि आपको अपने बच्‍चे को सब्जियां खिलानी हैं, तो आप उसके लिए वेजिटेबल परांठा बना दें। नाश्‍ते में प्रोटीन बढ़ाने के लिए बेसन का चीला या दाल का डोसा बना दें। जिन बच्‍चों को चावल पसंद हैं, उनके लिए फैंसी शेप में रोटी बनाएं।
बच्‍चे को वैरायटी दें – बड़ों की तरह अगर बच्‍चों को भी एक ही तरह का खाना रोज परोसा जाए, तो वो भी बोर ही जाएंगे। आप बच्‍चे को अलग-अलग फल, सब्जियां, दालें, फलियां खिलाने की कोशिश करें। जैसे कि रोज नाश्‍ते में इडली बनाने के बजाय आप रागी की इडली या सब्जियों से स्‍टफ्ड इडली बनाने की कोशिश करें।
खुद रोल मॉडल बनें – टाइम्‍स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक आर्टिकल में बैंगलोर के मदरहुड हॉस्‍पीटल की पीडियाट्रिशियन डॉक्‍टर दीपा शर्मा का कहना है कि बच्‍चे अपने पैरेंट्स की आदतों को देखकर उन्‍हें अपनाते हैं और उन्‍हें देखकर ही सीखते हैं। छोटे बच्‍चों के सामने आप हेल्‍दी खाना शुरू करें। आपको देखकर आपका बच्‍चा भी ऐसा करना शुरू कर देगा।
बच्‍चों को शिक्षित करें – बच्‍चे को संतुलित आहार के फायदों और अनहेल्‍दी स्‍नैक्‍स से होने वाले नुकसानों के बारे में बताएं। इससे बच्‍चे को समझ आएगा कि क्‍या हेल्‍दी है और उन्‍हें क्‍या खाना चाहिए। इसके अलावा जंक फूड पर कंप्‍लीट बैन लगाने के बजाय बच्‍चों को कम मात्रा में या कभी-कभी ये दे सकते हैं। बच्चों को कभी भी कुछ अचीव करने या कुछ अच्‍छा करने पर रिवॉर्ड में जंक फूड न खिलाएं।