Thursday , December 2 2021 5:08 PM
Home / News / India / भारत-जर्मनी के बीच 8 समझौते, मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ को मिलेगा बूस्ट

भारत-जर्मनी के बीच 8 समझौते, मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ को मिलेगा बूस्ट


बर्लिनः प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की जर्मनी यात्रा के दौरान मंगलवार को 8 समझौतों पर हस्‍ताक्षर हुए। बर्लिन में साझे बयान जारी करने के दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत-जर्मनी के रिश्तों से दुनिया पर सकारात्मक असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत और जर्मनी के बीच आने वाले मौकों और एशिया, यूरोर के साथ ही पूरी दुनिया में आने वाली चुनौतियों पर सकारात्मक चर्चा हुई। मोदी ने बर्लिन में कहा कि जर्मनी को भारत के रूप में शक्तिशाली, हमेशा तैयार भरोसेमंद साझेदार मिला है। मोदी ने कहा कि जर्मनी स्किल्स के मामले में बेहद आगे है। इससे हमारे देश के युवाओं को फायदा होगा।
दोनों देशों के बीच ट्रेड, स्किल डिवैलपमेंट, साइबर सिक्योरिटी सहित आंतकवाद के क्षेत्र पर बातचीत हुई। आज हुए समझौते से मोदी के मेक इन इंडिया को बूस्ट मिलेगा।दोनों देशों ने ज्वाइंट स्टेटमैंट जारी किया। इस दौरान मोदी ने कहा, हमारे रिश्ते क्षेत्रीय और वैश्विक नजरिए से महत्वपूर्ण हैं।
जर्मनी IGC की चौथे दौर की बैठक दौरान मोदी और मार्केल के बीच इंटरगर्वंटमेंटल कंसल्टेशन (आईजीसी) की वार्ता होगी। इसमें मोदी के साथ गए दौर पर गए केंद्रीय मंत्री हर्षवर्द्धन, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, और एमजे अकबर भी शामिल होंगे। भारत और जर्मनी के बीच यह वार्ता हर 2 साल में होती है। मोदी ने जर्मनी जाने से पहले अपने फेसबुक पेज पर उम्मीद जताई है कि उनके इस दौरे के दौरान कई समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे।
इसमें ट्रेड एंड इन्वेस्टमैंट, सिक्योरिटी एंड काउंटर टेररि्ज्म, साइंस एंड टेक्नोलॉजी, स्किल डिवैलपमैंट, शहरी विकास, रेलवे एंड सिविल एविएशन, क्लीन इनर्जी, हेल्थ एंड अल्टरनेटिव मेडिसिन सहित कई विषयों पर समझौते हो सकते हैं। यूरोपियन यूनियन (EU) में शामिल देशों में जर्मनी भारत का सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर है। इसके इलावा भारत में सबसे ज्यादा FDI (फारेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट) जर्मनी से ही आता है।
भारत में जर्मनी की 1600 कंपनियों के अलावा 600 संयुक्त परियोजनाओं पर काम चल रहा है। जर्मनी मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया सहित कई परियोजनाओं पर सहयोग कर रहा है। मोदी अपने दौरे में जर्मनी के कारोबारियों के साथ भी बैठक करेंगे। इस दौरान मर्केल भी मौजूद रहेंगी। यह इंडो जर्मन बिजनेस समिट 2017 की बैठक मंगलवार को देर शाम होगी।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This