Thursday , April 18 2024 6:38 AM
Home / Lifestyle / ऐसे कपड़े पहनने वाले मर्दों को पिता बनने में आ सकती है दिक्‍कत, घटती चली जाती है फर्टिलिटी

ऐसे कपड़े पहनने वाले मर्दों को पिता बनने में आ सकती है दिक्‍कत, घटती चली जाती है फर्टिलिटी

फर्टिलिटी पर ध्‍यान सिर्फ महिलाओं को ही नहीं बल्कि पुरुषों को भी देना चाहिए। अगर कोई कपल फैमिली प्‍लानिंग कर रहा है या कोई पुरुष फटाईल एज में है, तो उन्‍हें अपनी फर्टिलिटी पॉवर पर ध्‍यान देना चाहिए। माना जाता है कि टाइट अंडरवियर पहनने से पुरुषों का स्‍पर्म काउंट कम हो सकता है या उनकी फर्टिलिटी पर इसका गलत असर पड़ता है। दिल्‍ली के राजौरी गार्डन के नोवा आईवीएफ फर्टिलिटी की फर्टिलिटी स्‍पेशलिस्‍ट डॉक्‍टर अस्‍वति नायर बता रही हैं कि टाइट अंडरवियर पहनने से सच में पुरुषों की फर्टिलिटी पर कोई असर पड़ता है या नहीं?
क्‍या कहती हैं डॉक्‍टर – टाइट अंडरवयिर पहनने का संबंध ही पैदा होने से है। तापमान बढ़ने को लेकर स्‍पर्म काफी ज्‍यादा संवेदनशील होते हैं। यहां तक कि खुद की नैचुरल बॉडी हीट भी प्रॉब्‍लम खड़ी कर सकती है। प्रजनन प्रक्रिया में अंडकोष अहम भूमिका निभाते हैं और इनका सही पोजीशन में ना होना दिक्‍कत खड़ी कर सकता है।
टाइट अंडरवियर का क्‍या असर पड़ता है – डॉक्‍टर कहती हैं कि कई अध्‍ययनों में इस बात की जांच की गई है कि टाइट अंडरवियर पहनने से स्‍पर्म काउंट पर क्‍या असर पड़ता है। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में एक स्‍टडी हुई थी जिसमें पाया गया कि जिन पुरुषों ने टाइट अंडरवियर पहना था, उनमें लूज फिर्टिंग अंडरवियर पहनने वाले पुरुषों की तुलना में लो स्‍पर्म काउंट और स्‍पर्म की खराब क्‍वालिटी देखी गई।
टाइट अंडरवियर पहनने से क्‍या होता है – माना जाता है कि टाइट अंडरवियर पहनने से स्‍क्रोटल टेंपरेचर बढ़ जाता है जिसका स्‍पर्म के उत्‍पादन पर नेगेटिव असर पड़ता है। स्‍क्रोटम के अंदर अंडकोष होते हैं जिन्‍हें स्‍पर्म बनाने के लिए पूरी बॉडी की तुलना में थोड़ा कम टेंपरेचर चाहिए होता है। जब टाइट अंडरवियर की वजह से स्‍क्रोटम बहुत ज्‍यादा गर्म हो जाता है, तो इससे स्‍पर्म उत्‍पादन में रुकावट आ सकती है और लो स्‍पर्म काउंट हो सकता है।
कितना होना चाहिए टेंपरेचर – स्‍क्रोटम के लिए सामान्‍य तापमान पूरे शरीर से 2.5 से 3 डिग्री सेल्सियस कम होना चाहिए। सामान्‍य स्थिति में शरीर का सामान्‍य तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है इसलिए स्‍पर्म बनाने के लिए तापमान 34.1 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। अध्‍ययनों में सामने आया है कि कमरे के तापमान में हल्‍का बदलाव आने से भी स्‍पर्म की गतिशीलता प्रभावित हो सकती है। लंबी बीमारी के साथ तेज बुखार होने से पुरुषों के स्‍पर्म की गुणवत्ता में गिरावट आ सकती है।
हर किसी को नहीं होती प्राब्‍लम – डॉक्‍टर का कहना है कि टाइट अंडरवियर की वजह से हर पुरुष को लो स्‍पर्म काउंट की प्रॉब्‍लम नहीं होती है। हर पुरुष पर इसका एक जैसा असर नहीं पड़ता है। जेनेटिक्‍स, संपूर्ण सेहत और जीवनशैली का भी असर स्‍पर्म काउंट पर पड़ सकता है। इसलिए आप स्‍पर्म काउंट में गिरावट आने का सारा दोष टाइट अंडरवियर को नहीं दे सकते हैं।
क्‍या करना चाहिए – खासतौर पर फर्टिलिटी एज में पुरुषों को ढीले अंडरवियर पहनने चाहिए जैसे कि बॉक्‍सर। इससे त्‍वचा और यौन अंग हवा के संपर्क में रहती है और स्‍क्रोटल हिस्‍से में भी तापमान नियंत्रित रहता है। इससे स्‍पर्म बनाने के लिए स्‍क्रोटल का तापमान ठीक रहता है।