Tuesday , October 27 2020 4:21 PM
Home / News / सिंहस्थ : अंतिम ‘शाही स्नान’ के लिए पहुंची लाखों की भीड़

सिंहस्थ : अंतिम ‘शाही स्नान’ के लिए पहुंची लाखों की भीड़

untitled-4_1463764875इंजन पर बैठकर आ रहे हैं लोग।
उज्जैन/इंदौर. सिंहस्थ में शुक्रवार को नृसिंह जयंती के सातवें पर्व स्नान और शनिवार को होने वाले अंतिम शाही स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। शिप्रा के घाटों, महाकाल मंदिर व मेला क्षेत्र में चारों तरफ श्रद्धालुओं की भीड़ नजर आ रही है। ट्रेनों में लोग इंजन पर बैठकर आ रहे हैं।
बढ़ते दबाव को देखते रामघाट और महाकाल मंदिर की ओर जाने वाले रास्तों पर जगह-जगह लोगों को रोक कर अन्य घाटों पर भेजा जा रहा है। करीब 8.5 किमी लंबे घाटों पर स्नान का सिलसिला बिना रुके चल रहा है। महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए भी लंबी कतारें लगी हैं। मेला क्षेत्र में दोपहर में कम लोग थे लेकिन शाम को वहां पैदल चलने में भी परेशानी महसूस की जा रही है। 22 अप्रैल से शुरु हुए सिंहस्थ का 21 मई को अंतिम शाही स्नान के साथ समापन हो जाएगा। अंतिम शाही डुबकी के लिए प्रशासन को एक करोड़ यात्रियों के आने का अनुमान है। एसपी एमएस वर्मा का दावा है कि 40 लाख श्रद्धालु पहुंच चुके हैं, जो स्नान घाटों और मेला क्षेत्र में घूम रहे हैं।

100 स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही
श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला अनवरत जारी है। रेलवे के अनुसार मेले के लिए 100 स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं। राज्य सरकार ने विभिन्न जिलों से 700 से ज्यादा बसें चलाई हैं। इधर, मेला क्षेत्र में निजी वाहनों को शहर में प्रवेश रोक दिया गया है। यहां से श्रद्धालुओं को मेला क्षेत्र में ले जाने के लिए 300 सिटी बसें चलाई जा रही हैं। इनके अलावा करीब 1000 टाटा मैजिक वाहन भी चलाए जा रहे हैं।
तड़के 3 बजे से शुरू हुआ  शाही स्नान
शाही स्नान सुबह तीन बजे से 11 बजे तक निर्धारित क्रमानुसार विभिन्न अखाड़ों के साधु, संत स्नान करेंगे। सिंहस्थ में यह पहला अवसर रहेगा जब रामघाट और दत्त अखाड़ा घाट पर शैव और वैष्णव संप्रदाय के साधु संन्यासी एक ही समय में दोनों घाट पर एक साथ स्नान करेंगे। श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा, आवाहन अखाड़ा और अग्नि अखाड़े का स्नान प्रात: तीन बजे से, निरंजनी और आनंद अखाड़े का स्नान प्रात: चार बजे से और महानिर्वाणी एवं अटल अखाड़े का शाही स्नान प्रात: पांच बजे से प्रारंभ होगा। शैव अखाड़ों के साधु सन्यासियों के स्नान के बाद प्रात: सात बजे से दत्त अखाड़ा घाट आम श्रद्धालुओं के स्नान के लिए खुला रहेगा। रामघाट पर वैष्णव अखाड़ों के स्नान की व्यवस्था रहेगी। निर्मोही अणि अखाड़ा का स्नान प्रात: तीन बजे से, दिगंबर अणि अखाड़े का स्नान प्रात: चार बजे से और निर्वाणी अणि अखाड़े का स्नान प्रात: 5 बजे से रामघाट पर प्रारंभ होगा।

About indianz xpress

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest

Share This