Friday , July 19 2024 6:22 AM
Home / Lifestyle / अपने बच्चे को जरूर सिखाएं ये 10 अच्छी बातें

अपने बच्चे को जरूर सिखाएं ये 10 अच्छी बातें


भले ही बच्चे अपनी शिक्षा स्कूल में अध्यापकों से लेते हैं लेकिन उनकी असली पाठशाला तो घर से ही शुरू होती है। परिवार के सदस्य उन्हें जैसा चाहे उसी व्यवहार में ढाल सकते हैं। बच्चों को घर में अच्छा माहौल दें ताकि वह खुशनुमा व्यवहार का हो। ऐसे संस्कार सिखाएं जो आगे चल कर उनका भविष्य सुनहरा बना दें। छोटी छोटी बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है लेकिन इस बात को हमेशा याद रखें कि बच्चे वहीं सीखते हैं जो वह देखते हैं। अगर आप भी चाहते हैं कि आपका बच्चा समझदार और अच्छा इंसान बने तो उन्हें सीखाने से पहले कुछ बातों पर खुद भी अमल करें।

1. प्लीज और थैंक्यू
जब भी आप अपने बच्चे से कोई भी चीज मांग रहे हो या फिर उनसे कुछ पूछ रहे हो तो प्लीज वर्ड का इस्तेमाल करना ना भूलें। इसके अलावा जब बच्चा आपको कोई चीज लाकर दें तो उसे थैंक्यू भी जरूर बोलें। ऐसा करने से ये आदत बच्चे भी जल्दी सीख जाते हैं।
2. बड़ों के बीच में ना बोलें
ये बात बच्चों को जरूर सिखाएं कि जब कोई दो बड़े आपस में बात कर रहे हो तो उनके बीच में बोलना गलत बात होती है।
3. अनुमति लें
यह आदत बच्चों में शुरू से ही पाएं कि जब भी वे बाहर जाए तो आपसे अनुमति जरूर लें। बिना अनुमति के वे बाहर ना जाएं।
4. जवाब कैसे दें
जब भी आपके बच्चे से कोई उनका हाल-चाल पूछे तो उन्हें आगे से जवाब कैसे देना है, ये बात उन्हें जरूर सिखाएं। इससे बच्चे लोगो से बात करना और उनके सवाल का जवाब देना सिख जाते हैं।
5. डॉर नॉक
यह आदत बच्चों में जरूर डालें कि वे जब भी किसी के कमरे में जा रहे हो तो सबसे पहले डॉर नॉक जरूर करें। अगर कोई अंदर से रेस्पॉन्स करें तभी रूम के अंदर जाएं।
6. छींक आने पर
बच्चे को जब छींक या खांसी आए तो मुंह को रुमाल से ढक कर छींके या हाथ लगा छींके। छींकने के बाद सॉरी वर्ड का जरूर इस्तेमाल करें।
7. गलत भाषा का इस्तेमाल ना करें
बच्चे बहुत जल्दी आसानी से गलत भाषा बोलना सीख जाते हैं। इसलिए बच्चों के सामने कभी भी गलत भाषा का इस्तेमाल ना करें।
8. टकराना
बच्चे रास्ता चलते समय अगर गलती से किसी से टकरा जाए तो तुरंत उसे सॉरी बोलने के लिए कहे।
9. टेबल मैनर्स
बड़े जब आपको खाना सर्व करें। तभी खाएं आप खुद ही जल्द बाज़ी में खाना न परोसने लगे। साथ ही बड़ों के टेबल मैनर्स को देख कर फॉलो करें।
10. किसी का मज़ाक न बनाए
बच्चे अपने से कमजोर बच्चे को चुंगली और मजाक न करें बल्कि दूसरों की सहायता करने के लिए कहना चाहिए।