Friday , June 21 2024 3:39 PM
Home / Lifestyle / गुस्सा करने से शरीर झेलता है ये 8 नुकसान

गुस्सा करने से शरीर झेलता है ये 8 नुकसान


गुस्सा दो तरह का होता है, एक तो बच्चे के गलती करने पर जो डांट उसे मां-बाप से पड़े उसे हम नार्मल और किसी हद तक जायज गुस्सा कह लेते हैं, दूसरा गुस्सा जो व्यक्ति के अंदर छिपे अहंकार को उजागर करता है। ऐसे गुस्सा करने वाला व्यक्ति जहां खुद के लिए मुसीबत मोल लेते हैं वहीं अपने आस-पास रहने वाले लोगों के लिए भी कई तरह की मुश्किलें पैदा करते हैं।
आमतौर पर व्यक्ति को गुस्सा तभी आता है जब उसे उसके मन के मुताबिक कुछ न मिले। ऐसे में इंसान चिड़ा-चिड़ा और बात-बात पर गुस्सा करने वाला बन जाता है। कई बार खराब सेहत के चलते भी व्यक्ति गुस्से में या फिर परेशान रहता है। तो इस तरह हर व्यक्ति के पास खुद के गुस्से का एक खास कारण होता है। आज हम यहां बात करेंगे भला गुस्सा करने से आपके शरीर पर क्या-क्या असर डलता है…

दिमाग पर असर
क्रोध आने पर मस्तिष्क में ऐसे रासायनिक तत्व बनते हैं, जिनका शरीर और मन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। जो लोग ज्यादा गुस्सा करते हैं उनमें ब्रेन स्ट्रोक के चांसिस भी ज्यादा होते हैं।

ब्लड प्रेशर बढ़ना
जब हम किसी बात को लेकर बहुत जल्द रिएक्ट करने लगते हैं तो धीरे-धीरे शरीर में रक्त का प्रभाव तेजी से होने लगता है। जो आगे चलकर हाई बी.पी. की बिमारी को जन्म देता है।
सोचने की शक्ति कमजोर होना
दिमाग पर जरुरत से ज्यादा जोर डालने से व्यक्ति के सोचने-समझने की शक्ति कमजोर होती है। जिसके चलते वह जीवन में दूसरों से पीछे रह जाता है।
तनाव
छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा करने से आप तनाव और डिप्रेशन के शिकार होते हैं। जिसके चलते आप खुश रहने की बजाय उदास और मायूस रहने लगते हैं या फिर अपना गुस्सा हमेशा दूसरों पर निकालने की सोच रखते हैं।
वीक इम्यून सिस्टम
ज्यादा गुस्सा करने से आपकी पाचन शक्ति कमजोर होती है। शोध में भी यह पाया गया है कि जो लोग ज्यादा गुस्सा करते हैं या फिर मन में नेगेटिव बातें रखते हैं उन्हें दूसरों के मुकाबले खाना 3 से 4 घंटे बाद पचता है।
ग्रोथ में कमी
जो बच्चे ज्यादा गुस्सा करते हैं, उसका असर सीधा उनकी ग्रोथ पर पड़ता है। हमेशा चिड़चिड़ा रहने की वजह से बच्चा प्रॉपर हाइट नहीं ग्रो कर पाता।

नींद पर बुरा असर
स्वस्थ जीवन के लिए साउंड स्लीप बहुत जरुरी है। मगर जो लोग ज्यादा गुस्सा करते हैं, उनके दिमाग की कोशिकाएं इतनी स्ट्रेस में आ जाती हैं कि उनके लिए चैन की नींद ले पाना मुश्किल काम हो जाता है।

फोन पर गुस्सा करना
जो लोग फोन पर घंटो चिल्ला-चिल्लाकर दूसरों से बात करते हैं, उनके दिमाग की नसों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। मोबाईल फोन की खतरनाक वाइब्रेशंस दिमाग की नसों को सुन्न करने का काम करती हैं। जिस वजह से व्यक्ति के सोचने-समझने की शक्ति कमजोर होती है।

ये तो हुए गुस्सा करने से शरीर पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव। अगर आपको भी बहुत ज्यादा गुस्सा आता है तो आज से ही उसे कंट्रोल में रखने की कोशिश करे। ताकि आप सेहत से जुड़ी इन परेशानियों से बच पाएं।