Monday , June 24 2024 5:51 AM
Home / Entertainment / Bollywood / जब मुंबई आया तो मैंने अपना सबकुछ खो दिया था, अब खोने के लिए कुछ नहीं : शाहरुख खान

जब मुंबई आया तो मैंने अपना सबकुछ खो दिया था, अब खोने के लिए कुछ नहीं : शाहरुख खान


बॉलीवुड में ऐसे बेहद कम कलाकार है जिन्होंने फिल्म जगत में अपना करियर बिना किसी के बलबुते पर बनाया। उन्ही में एक है शाहरुख खान। अपने दम पर हिंदी सिनेमा की बादशाहत हासिल करने वाले शाहरुख खान का कहना है कि उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं है। शाहरुख ने कहा कि उन्होंने अपने करियर बुरे दिन देख चुके हैं और उनका मानना है कि जिंदगी जीने का सबसे सही तरीका हर पल का आनंद उठाना ही है।
जन्मदिन पर अपने प्रशंसकों के साथ मुलाकात करते हुए शाहरूख ने कहा, ‘‘ मैं खुशकिस्मत और बदकिस्मत दोनों रहा हूं, जब मैं काम करने मुम्बई आया था तब मैंने अपना सबकुछ खो दिया था, माता-पिता, पैसा..मेरी एक बहन थी जो अस्वस्थ थी…मेरी शादी बस हुई ही थी और मेरे पास रहने के लिए घर नहीं था मुझे लगा कि जो होगा अच्छा ही होगा। तमाम नकारात्मकताओं के बावजूद मुझे यही लगता था कि कुछ गलत नहीं हो सकता। मुझे कभी नहीं लगा कि मैं कुछ खो दूंगा।”
शाहरुख ने कहा कि वह फिल्म उद्योग में जूही चावला, फिल्म निर्माता अजीज मिर्जा, राजीव मेहरा और अभिनेता-निर्माता विवेक वासवानी जैसे दोस्त पाकर खुश हैं, जिन्होंने मुश्किल घड़ी में उनका साथ दिया। निजी और पेशेवर जीवन में तालमेल बैठाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्हें कहीं भी तालमेल बैठाने की जरूरत नहीं पड़ी।
वहीं शाहरुख खान ने कहा कि वह अपने जीवन में ऐसे अच्छे किरदार निभाना चाहते हैं, जिससे उनके बेटे अबराम समझ पाएं कि लोग उनसे प्यार क्यों करते हैं। उन्होंने कहा कि जब आर्यन और सुहाना बड़े हो रहे थे तब उन्होंने ‘बाजीगर’ और ‘कुछ कुछ होता है’…की ।