Monday , March 4 2024 1:26 AM
Home / News / महिला हो सकती है ब्रिटेन की अगली पीएम, ये भी हैं रेस में

महिला हो सकती है ब्रिटेन की अगली पीएम, ये भी हैं रेस में

interiorministertheresa-ll

लंदन: ऐतिहासिक जनमत संग्रह के बाद ब्रिटेन यूरोपीय संघ से अलग हो गया है। नतीजों के बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। ऐसे में अटकलें तेज हो गई हैं कि ब्रिटेन का अगला पीएम कौन होगा। 9 सितंबर को ब्रिटेन को अपना नया पीएम मिल जाएगा। इसके लिए पहली परीक्षा 5 जुलाई को होनी है।

ये हैं पीएम की रेस में शामिल

1) थेरेसा मे
ब्रिटेन की गृह मंत्री थेरेसा प्रधानमंत्री बनने के रेस में सबसे आगे हैं। वह 1997 में पहली बार संसद के लिए चुनी गई थी और 2002 से 2003 तक वह कंजरवेटिव पार्टी की चेयरपर्सन भी रहीं। हालांकि केमरन की तरह वो भी यूरोपीय संघ में रहने की पक्षधर थीं। उन्हें गंभीर, अनुभवी और ईमानदार महिला माना जाता है।

2) माइकल गोव
माइकल गोव इस रेस में दूसरा नंबर पर चल रहे हैं। 48 साल के गोव देश के न्याय मंत्री हैं और 2005 में वह पहली बार संसद पहुंचे, इससे पहले वो पत्रकार थे। गोव 2010 से 2014 तक शिक्षा मंत्री भी रहे हैं। गोव यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में थे।

3) एंड्रिया लीडसम
ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री एंड्रिया लीडसम भी प्रधानमंत्री पद की दावेदार हैं। एंड्रिया ने 25 साल तक बैंकिंग और फाइनेंस के क्षेत्र में काम किया है। 2010 में वह संसद के लिए चुनी गईं। एंड्रिया भी यूरोपीय संघ से अलग होने की पक्ष में थीं।

4) स्टीफन क्रेब
कैमरन के विकल्प के रूप में स्टीफन क्रेब का भी नाम सामने आ रहा है। स्टीफन पेंशन व वर्क सेक्रेटरी के रूप में काम कर चुके हैं। 2005 में वह संसद पहुंचे। वह 2014 से 2016 तक स्टेट फॉर वेल्स के सचिव थे। इन्हें समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता का विरोध करने के लिए भी जाना जाता है। इन्होंने मार्केटिंग सलाहकार के रूप में भी काम किया है. स्टीफन यूरोपीय संघ में रहने के पक्षधर थे।

5) लियाम फॉक्स
पूर्व रक्षा मंत्री लियाम फॉक्स भी इस रेस में हैं। अनुभवी लियाम 1992 में पहली बार सांसद बने। ये 2003 से 2005 तक कंजरवेटिव पार्टी के सह-अध्यक्ष रहे। 2011 में इन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया। फॉक्स एक डॉक्टर थे और नागरिक सेना चिकित्सा अधिकारी के रूप में काम कर चुके हैं। लियाम यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में थे।

गौरतलब है कि लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने की मांग जोर-शोर से उठाई थी। उन्हें प्रधानमंत्री पद का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा था, लेकिन उन्होंने अपने को इस दौड़ से अलग कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *