Friday , June 21 2024 3:35 PM
Home / News / न्यूजीलैंड में ७.५ का भूकंप, २ हताहत, सम्पत्ती की बृहद क्षती,  सूनामी लहरे और देश व्यापी अलर्ट  

न्यूजीलैंड में ७.५ का भूकंप, २ हताहत, सम्पत्ती की बृहद क्षती,  सूनामी लहरे और देश व्यापी अलर्ट  

 

three_col_cxk2mjjuuaaykpw-jpg_largeवेलिंगटन: न्यूजीलैंड के कई शहरों में रविवार सोमवार की दर्मियान्ने रात १२ .०२ बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। क्राइस्टचर्च के उतर में काईकोरा में 7.५ तीव्रता का झटका महसूस किया गया। दो लोगों के मारे जाने के समाचार हैं, सम्पत्ती का काफी नुकसान देश के कई हिस्सों में बताया जा रहा है | न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक, क्राइस्टचर्च के दक्षिणी हिस्से में सुनामी की लहरें देखी गईं। इनकी ऊंचाई छह फीट (दो मीटर) से ज्यादा थी। देश के सिविल डिफेंस डिपार्टमेंट ने भी सुनामी की बात कबूल की है। लोगों से फौरन सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की गई है। कई हेलिकॉप्टर रेसक्यू में लगाए गए हैं। दिक्कत की बात ये है कि तेज झटकों की वजह से बिजली और फोन लाइन्स ठप हो गई हैं। खबर लिखे जाने तक, किसी शहर से किसी नागरिक को नुकसान की कोई खबर नहीं मिली थी। किन शहरों में भूकंप…

– क्राइस्टचर्च के अलावा वेलिंगटन,  तारानाकी,  हैमिल्टन और ऑकलैंड में भी झटके महसूस किए गए। ये झटके 2010 के भूकंप से भी तेज थे।

– एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सबसे ज्यादा चिंता आफ्टरशॉक्स को लेकर है। जिनकी वजह से लोगों को रेस्क्यू करने में दिक्कत आ सकती है।

क्या कहा सरकार ने?

– यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, भूकंप का केंद्र क्राइस्टचर्च से 91 किलोमीटर सदर्न आइलैंड्स में था। देश के सिविल डिफेंस डिपार्टमेंट ने लोगों से कहा कि वो ऊंचाई वाले स्थानों पर जाएं।

– सिविल डिफेंस डिपार्टमेंट ने कहा- हम फिलहाल ये पता करने की कोशिश कर रहे हैं कि नुकसान अगर हुआ है तो वो किस तरह का है। न्यूजीलैंड सरकार ने जियोनेट वेबसाइट पर कहा कि लोग सेफ्टी के इंतजाम और निर्देशों पर नजर रखें। क्योंकि आफ्टरशॉक्स का खतरा है।

– बता दें कि सितंबर में भी न्यूजीलैंड में ही 7.1 तीव्रता का भूकंप आया था। इसके बाद यहां काफी आफ्टरशॉक्स आए थे।

पांच साल पहले गई थी 185 लोगों की जान

– न्यूजीलैंड में पांच साल पहले यानी 2011 में भी 6.3 तीव्रता का भूकंप आया था। 185 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 733 लोग घायल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *