Friday , May 7 2021 11:52 AM
Home / News / India / NIA का दावा- मोदी सरकार और RSS के खिलाफ डॉन दाऊद ने रची थी बड़ी साजिश

NIA का दावा- मोदी सरकार और RSS के खिलाफ डॉन दाऊद ने रची थी बड़ी साजिश

dawood-ll

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजैंसी (NIA) ने दावा किया है कि मोस्ट वॉन्टेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने मोदी सरकार, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और धार्मिक नेताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर साजिश रची थी। यही नहीं दाऊद के गुर्गे देशभर में कम्युनल टेंशन पैदा करना चाहते थे। जांच एजेंसी शनिवार को डी-कंपनी के 10 सदस्यों के खिलाफ चार्जशीट फाइल करेगी। सूत्रों के मुताबिक इन सदस्यों को मोदी सरकार बनने के तुरंत बाद भारत में तनाव फैलाने और चर्चों और RSS नेताओं को टारगेट करने का काम दिया गया था।

पिछले साल गुजरात में शिरीष बंगाली और प्राग्नेश मिस्त्री का मर्डर भी इसी साजिश का हिस्सा था। ये सारे खुलासे नैशनल इन्वेस्टिगेशन एजैंसी ने किए हैं। एन.आई.ए. ने बताया कि गुजरात के दो नेताओं की नवंबर 2015 में भड़ूच में दाऊद के शार्प शूटर्स ने हत्या की थी। दाऊद के गुर्गों ने ये हत्या मुंबई सीरियल ब्लास्ट के दोषी याकूब मेमन की फांसी का बदला लेने के मकसद से की थी। मोदी सरकार को निशाना बनाने की साजिश को पाकिस्तान में बैठे दाऊद के गुर्गे जावेद चिकना और साउथ अफ्रीका में मौजूदा जाहिद मियां उर्फ जाओ अंजाम देने वाले थे।चिकना के लिए एन.आई.ए. ने इंटरपोल से संपर्क किया था। ताकि उसे पाकिस्तान से अरेस्ट कर भारत को सौंपा जा सके।

सूत्रों के मुताबिक, एन.आई.ए. की चार्जशीट में डी कंपनी के जिन 10 मेंबर्स का नाम है उनमें से कुछ पिछले साल अरेस्ट हो चुके हैं। ये लोग हैं- हाजी पटेल, मोहम्मद यूनुस शेख, अब्दुल समद, आबिद पटेल, मोहम्मद अल्ताफ, मोहसिन खान और निसार अहमद। आबिद जावेद चिकना का भाई है। उसे गुजरात के दो नेताओं की हत्या के बदले 50 लाख रुपए दिए गए थे।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This