Thursday , February 9 2023 3:53 AM
Home / News / रियो २०१६ :  आक्रमक सिंधु बैडमिंटन फाइनल में , भारत के लिए एक नया इतिहास

रियो २०१६ :  आक्रमक सिंधु बैडमिंटन फाइनल में , भारत के लिए एक नया इतिहास

Rio de Janeiro: India's badminton player P V Sindhu plays against Laura Sarosi of Hungary during the Women's Single match at the Summer Olympic 2016 in Rio de Janeiro, Brazil on Thursday. PV Sindhu won the match by 21-8, 21-9. PTI Photo by Atul Yadav(PTI8_11_2016_000302B)

रियो डि जनेरो।

भारत की पीवी सिंधु ने कमाल करते हुए सेमीफाइनल में छठी रैंकिंग वाली जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-19, 21-10 से हरा कर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। इस जीत से भारत के पदकों की संख्या में इजाफा हो गया है। इससे पहले कुश्ती में साक्षी ने भारत को कांस्य पदक दिलाया था। सिंधु का शुक्रवार को फाइनल में मुकाबला स्पेन की वर्ल्ड नंबर वन कैरोलिना मारिन से होगा

भारत के लिए ये ओलंपिक एक बुरे सपने की तरह रहा है। इस बार देश को उम्मीद थी कि पिछले ओलंपिक से ज्यादा पदक आएंगे पर ऐसा नहीं हो पाया। भारत के बड़े बड़े खिलाड़ी हारकर बाहर हो चुके हैं। जिनमें लिएंडर पेस, सानिया मिर्जा, रोहन बोपन्ना और साइना नेहवाल ऱहे। इन खिलाड़ियों के अलावा भी बहुत से ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जिनसे देश को पदक की उम्मीद थी।

badminton-women-s-singles-semifinals_81dafe6a-6560-11e6-b7cc-991406f1fe11पहला गेम 

पहले गेम में सिंधु ने शुरुआत में ही नोजोमी पर बढ़त बना ली। एक समय  सिंधु की बढ़त 9-6 हो गई थी। सिंधु ने पहले गेम में पूरे समय लंबी रैली खिलाई और नोजोमी को नेट के पास आकर खेलने का मौका नहीं दिया, जिसके लिए वह कोशिश कर रहीं थी। 13 मिनट के खेल में सिंधु ने 11-8 की बढ़त बना ली। नोजोमी ने इसके बाद शानदार खेल दिखाया और स्कोर में 1 अंक और जोड़कर सिंधु के कुछ करीब पहुंच गईं। सिंधु ने अपनी गलतियों से भी कुछ अंक गंवाए। नोजोमी ने गजब का खेल दिखाते हुए 20-19 का स्कोर कर लिया पर इस समय सिंधु ने एक अंक लेकर पहले गेम जीत लिया।

दूसरा गेम

दुसरे गेम में सिंधु ने कमाल का खेल दिखाया और आसानी से 21-10 से इसको अपने पक्ष में कर लिया। दूसरे गेम के शुरु होते ही दोनों खिलाड़ियों ने बढत बनाने का प्रयास किया। एक समय नोजोमी ने 7-5 की बढ़त बना ली थी। उसके बाद सिंधु ने वापसी करते हुए स्कोर को 8-8 से बराबर कर लिया। यहीे से सिंधु के खेल ने गति पकड़ी और बिना किसी परेशानी के मैच को जीतकर भारत के लिए इतिहास बना दिया।

 

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This