Monday , June 24 2024 12:32 AM
Home / Sports / सेरेना का नंबर 1 बने रहने का टूटा सपना

सेरेना का नंबर 1 बने रहने का टूटा सपना

13
न्यूयार्क: सेरेना विलियम्स सैमीफाइनल में कारोलिना पिलिसकोवा से हारकर यूएस ओपन टैनिस टूर्नामैंट से बाहर हो गई जिससे उनका 23वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने और लगातार 187 सप्ताह तक नंबर एक बने रहने के रिकार्ड को अपने नाम करने का सपना टूट गया।
सेरेना की जगह जर्मनी की एंजेलिक केरबर अब दुनिया की नंबर एक महिला खिलाड़ी होंगी। उन्होंने फाइनल में पहुंचकर अपने पहले यूएस ओपन खिताब की उम्मीदें भी जगा दी हैं।  चेक गणराज्य की दसवीं वरीयता प्राप्त पिलिसकोवा ने सेरेना को 6-2, 7-6 से हराया। फाइनल में उन्हें केरबर से भिडऩा होगा जिन्होंने एक अन्य मैच में कारोलिना वोजनियाकी को 6-4, 6-3 से पराजित किया।
स्टेफी ग्राफ के आखिरी बार 1996 में यूएस ओपन फाइनल में पहुंचने के बाद केरबर पहली जर्मनी खिलाड़ी हैं जो यहां खिताबी मुकाबले में पहुंची हैं। यही नहीं जब सोमवार को नई विश्व रैंकिंग जारी होगी तो वह नंबर एक बनने वाली दूसरी जर्मन खिलाड़ी भी बन जाएंगी। उनसे पहले जर्मनी से केवल ग्राफ ने ही यह उपलब्धि हासिल की थी।  सेट गंवाये बिना फाइनल में पहुंचने वाली केरबर ने कहा कि फाइनल में पहुंचना और विश्व की नंबर एक खिलाड़ी बनना अविश्वसनीय है। यह शानदार दिन था।
सेरेना को हराने वाले पिलिसकोवा इससे पहले पिछले 17 अवसरों पर किसी ग्रैंडस्लैम में तीसरे दौर से आगे नहीं पहुंच पायी थी। उन्होंने कहा कि मुझे अब भी विश्वास नहीं हो रहा है। मुझे पता था कि यदि मैं अपना नैसर्गिक खेल खेलती हूं तो किसी को भी हरा सकती हूं। मैं फाइनल में पहुंचकर और सेरेना जैसी चैंपियन को हराने से उत्साहित हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *