Thursday , October 22 2020 8:48 AM
Home / News / हार से बौखलाई मालिक प्रीति की कोच बांगड़ को गाली और धमकी, फिर इंकार

हार से बौखलाई मालिक प्रीति की कोच बांगड़ को गाली और धमकी, फिर इंकार

201605121463052283161137CQxe8YNSgsEमोहाली: किंग्स इलेवन पंजाब की सहमालिक प्रीति जिंटा इन दिनों आईपीएल-9 में अपनी टीम की हार पचा नहीं पा रही हैं। सूत्रों के अनुसार बेंगलूरु रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ पिछले मैच में मिली हार के बाद प्रीति ने टीम के कोच संजय बांगड़ की जमकर क्लास लगाई और उन्हें बर्खास्त करने की भी धमकी दी। घरेलू मैदान मोहाली पर सोमवार को हुए मैच में बेंगलूरु के खिलाफ करीबी मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को एक रन से हार का सामना करना पड़ा था। रिपोर्ट के अनुसार इस हार के बाद टीम और सपोर्ट स्टाफ के सामने ही प्रीति अपना आपा खो बैठीं। उन्होंने कोच बांगड़ को गालियां दी और साथ ही बर्खास्त करने की धमकी भी दी।
कहा जा रहा है कि प्रीति मैच के लिए बांगड़ द्वारा चुनी गई अंतिम एकादश व बल्लेबाजी क्रम से खफा थीं। वे इस बात से नाराज थीं कि कोच ने अक्षर पटेल को फरहान बेहारदियन से ऊपर बल्लेबाजी करने के लिए नहीं भेजा था। किंग्स इलेवन पंजाब फिलहाल आईपीएल-9 की अंकतालिका में सबसे नीचे है और इसका दोषी प्रीति ने बांगड़ को ठहराया है।

कहासुनी हुई, नहीं कहे अपशब्द- प्रीति
इस बीच प्रीति ने इसका खंडन किया है। प्रीति ने गुरुवार को अपने फेसबुक पेज पर लिखा, मैच के बाद मैंने टीम मेंटर वीरेन्द्र सहवाग और कोच बांगड़ से केवल बातचीत की थी। इसके बाद मैंने विजेता टीम के कप्तान विराट कोहली को बधाई भी दी। मैंने हमारे कोच के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया। मैं किसी के भी बारे में ऐसे शब्द नहीं बोल सकती।
ये खबरें गलत और अतिश्योक्तिपूर्ण हैं। प्रीति ने कहा, मेरे और संजय के खंडन के बाद भी ये खबरें छपी। मैं इस नकारात्मकता और बकवास से परेशान हो चुकी हूं। इससे पहले कोच बांगड़ ने भी इन खबरों को खारिज करते हुए कहा कि प्रीति ने उन्हें उन्हें अपशब्द नहीं कहे। बांगड़ ने कहा, बेंगलूरु के खिलाफ एक रन से हार के बाद kings इलेवन पंजाब के मालिकों के साथ बात हो रही थी। कुछ लोगों ने तिल का ताड़ बना दिया गया और मनगढ़ंत कहानियां लिख दीं।

About indianz xpress

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest

Share This