Friday , June 21 2024 4:24 PM
Home / Uncategorized / हार के बावजूद तेवर नरम नहीं हुए सैंडर्स के

हार के बावजूद तेवर नरम नहीं हुए सैंडर्स के

sendersandhillary-ll

वाशिंगटन : डीसी के अंतिम प्राइमरी में जीत हासिल करके हिलेरी क्लिंटन अमरीका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार के रूप मे नामांकन करने की ओर बढ़ गई हैं। उन्होंने पार्टी में अपने प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स को हराया। हिलेरी ने इस शारदार जीत के लिए मतदाताओं का आभार जताया। उन्होंने सद्भावनापूर्वक अपनी ही पार्टी प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स से मुलाकात भी की। हिलेरी ने 79-21 प्रतिशत के अंतर से यह चुनाव जीता है। अब वे राष्ट्रीय स्तर पर अपने 20 प्रतिनिधियों का बहुमत प्राप्त करेंगी। इस दौरान खास बात यह देखने को मिली कि हिलेरी के प्रतिद्वद्वी बर्नी सैंडर्स के तेवर में हार के बावजूद कड़ापन बना हुआ है।

चौदह महीने के लंबे अभियान के बाद वाशिंगटन में यह पाया गया कि सैंडर्स का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। उन्होंने यहां सिर्फ एक रैली की थी। फिर भी डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए लोगों ने निष्ठा दिखायी। यहां बसे अफ्रीकन-अमरीकन वोटरों ने हिलेरी क्लिंटन के पक्ष में अपने वोट डाले। लेकिन अभी अंतिम मुकाबला होना है। वह है अगले माह में फिलडेल्फिया में होने वाली राष्ट्रीय कन्वेशन।

मतदान की प्रक्रिया के दौरान बर्नी सैंडर्स ने घोषणा कर दी कि वीरवार की रात को वे लाइव वीडियो के माध्यम से अपने समर्थकों के साथ अगली रणनीति पर चर्चा करेंगे। पार्टी प्रबंधकों को यह संदेश पहुंचा दिया गया है कि वह यथास्थिति को स्वीकार नहीं करेंगे। उनका राजनीतिक संघर्ष जारी रहेगा। जबकि नामांकन के लिए उनकी होड़ समाप्त हो चुकी है। इसके बावजूद उन्होंने हिलेरी को अपना समर्थन देने से इंकार कर दिया। उनका कहना है कि पार्टी में परिवर्तन लाने के लिए यह लड़ाई जितनी वह लड़ सकते थे उन्होंने मजबूती से लड़ी।

हार के बाद भी सैंडर्स के तेवर नरम नहीं हुए। डेेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी की अध्यक्ष डेबी वासरमैन शुलट्ज को बदलने की मांग करने से पहले वे कहते हैं कि अमरीका के लोगों को बुरी तरह चोट पहुंची है। वे वास्तव में बदलाव चाहते हैं,लेकिन पुराने में नहीं। उन्होंने ऐसे व्यक्ति की जरुरत पर जोर दिया जो पूरे जोश के साथ पार्टी को समर्थन दे और लोगों को इस राजनीतिक प्रक्रिया में भाग लेने के लिए खींच कर ला सके।

हार के बावजूद पार्टी के लंच में सैंडर्स का उत्साहपूर्वक स्वागत हुआ। वहीं हिलेरी से उनकी मुलाकात भी हुई। पार्टी में संतोष का माहौल इसलिए भी बना हुआ था कि प्राइमरी चुनाव में लाखों लोगों ने जोर-शोर से भाग लिया था। खासतौर पर नौकरी पेशा के लोगों ने, जो देश की राजनीतिक प्रक्रिया से असंतुष्ट रहते हैं।

हाल में राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बर्नी सैंडर्स और हिलेरी से मुलाकात की थी, उस समय भी ओबामा के कहने के बावजूद सैंडर्स ने चुनावी दौड़ से हटने से इंकार कर दिया था। उन्हें हिलेरी क्लिंटन भी मंजूर नहीं हैं। प्राइमरी चुनाव के परिणामों के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी के दोनों उम्मीदवार कैपिटल हिल पर मिले। सैंडर्स ने पत्रकार सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने अपनी योजना को स्पष्ट तो नहीं किया, लेकिन यह बता दिया कि उनकी लड़ाई जारी रहेगी। वे डेमोक्रेटिक पार्टी में भी महत्वपूर्ण परिवर्तन लाने की बात भी करते हैं।

सैंडर्स ने यह कह कर सबको चोंका दिया कि वे पार्टी के सुपर डेलीेगेट्रस से छुटकारा पाना चाहते हैं। उन्हें इन 400 सुपर डेलिगेट्स से शिकायत है कि अभियान शुरू करने से पहले ही इन डेलिगेट्स ने मानो हिेलेरी के हाथों अपने आप को गिरवी रख दिया था। वे चाहते हैं कि नई पीढ़ी को डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी के सर्वोच्च पद पर बिठाया जाए। फिर सैंडर्स ने इन विषयों पर ओबामा और हिलेरी को ट्वीट किया। यही नहीं, ट्रंप पर भी जोरदार हमला किया। आॅरलैंडों की घटना पर ट्रंप ने मुस्लिम लोगों को अमरीका में आने की अनुमति नहीं देने की बात को दोहराया था। इस पर सैंडर्स का कहना था कि एक व्यक्ति द्वारा इतना भयानक कदम उठाने से उसके धर्म को दोषी नहीं ठहराया जा सकता। सैंडर्स ने धर्म और रंग के आधार पर देश को बांटने का समर्थन नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *