Thursday , September 24 2020 2:30 PM
Home / Lifestyle / इन अलग-अलग समस्याओं के कारण होता है ब्रेस्ट में दर्द, ना करें अनदेखा

इन अलग-अलग समस्याओं के कारण होता है ब्रेस्ट में दर्द, ना करें अनदेखा


महिलाओं के जीवन में ऐसी कई स्थितियां आती हैं, जब ब्रेस्ट पेन (Breast Pain) होना सामान्य होता है। लेकिन कई बार यह
सैमसंग का नया फोन बना बैटरी चैलेंज का बॉस, जानें किसे दी पटकनी
किसी भी महिला का ब्रेस्ट पेन (Breast Pain) से पहली बार सामना अपनी टीनऐज के दौरान होता है। क्योंकि उस समय शरीर में हॉर्मोनल परिवर्तन बहुत तेजी से हो रहे होते हैं और शरीर का विकास अपने चरम पर होता है। इस दौरान कई अलग-अलग कारणों से इन्हें दर्द का सामना करना पड़ता है। ज्यादातर केसेज में यह दर्द सामान्य होता है, जिसे थोड़ी-सी देखभाल के साथ ठीक किया जा सकता है। यहां जानें, किन स्थितियों में ब्रेस्ट पेन को अनदेखा नहीं करना चाहिए…
क्यों होता है ब्रेस्ट पेन?

– जीवन के अलग-अलग स्तर पर ब्रेस्ट पेन की वजह भी अलग-अलग हो सकती है। जैसे टीनऐज में बॉडी ऑर्गन डिवेलप होने की स्थिति में ब्रेस्ट पेन का सामना करना पड़ता है।

-जबकि पीरियड्स शुरू होने के बाद हर महीने शरीर में होनेवाले हॉर्मोनल परिवर्तन के कारण भी ब्रेस्ट में दर्द, दुखन या चुभन का सामना करना पड़ सकता है।

-हालांकि पीरियड्स के दौरान आमतौर पर ब्रेस्ट पेन की समस्या उन महिलाओं में देखने को मिलती है, जिनके पीरियड्स सामान्य नहीं होते हैं या जिन्हें ब्लीडिंग कम होना या अधिक होने की समस्या रहती है।

इस दौरान पाएं ब्रेस्ट पेन से राहत

-टीनऐजर गर्ल्स और पीरियड्स के समय होनेवाले ब्रेस्ट पेन से राहत पाने के लिए आप प्राकृतिक दर्द निवारक या घरेलू नुस्खों का उपयोग कर सकती हैं।

-यदि आपको इस विषय में जानकारी नहीं है तो आप किसी भी लेडी डॉक्टर से मिलकर बात करें और उनके द्वारा सुझाए गए टॉनिक्स का सेवन कर सकती हैं।

-एक चम्मच सरसों तेल में 3 कली लहसुन, दो चुटकी अजवाइन और जरा-सा मेधी दाना डालकर इस तेल को गर्म करें। जब तेल अच्छी तरह पक जाए तो इसे ठंडा होने दें और फिर हल्के हाथों से ब्रेस्ट पर मसाज करें।

-इस नुस्खे से आपको दर्द में राहत मिलने की पूरी संभावना है। यदि ऐसा नहीं होता है तो आप जितना जल्द से जल्द डॉक्टर से मिल सकती हैं आपको मिलकर उनकी सलाह लेनी चाहिए।

ब्रेस्ट पेन के अन्य कारण

-पहले बच्चे के जन्म के बाद जो महिलाएं स्तनपान कराती हैं, उन्हें भी कई बार ब्रेस्ट में दर्द, चुभन या सूजन की समस्या हो जाती है।

-सही साइज की ब्रा ना पहनना भी ब्रेस्ट पेन की वजह बन सकता है। क्योंकि टाइट ब्रा पहनने पर त्वचा और मांसपेशियां लगातार दबाव में रहती हैं, जो दर्द बढ़ाता है।

-वहीं, ओवर साइज ब्रा पहनने पर मांसपेशियों को जरूरी सपॉर्ट नहीं मिल पाता है, जिससे दर्द बढ़ सकता है। इसलिए ब्रा का चुनाव करते समय हमेशा अपने सही साइज का ध्यान रखें।

-मेनोपॉज में भी महिलाओं को ब्रेस्ट पेन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इस दौरान एक बार फिर महिलाओं का शरीर बहुत अधिक हॉर्मोनल चेंजेज से गुजर रहा होता है। जिस कारण ब्रेस्ट बहुत अधिक संवेदनशील हो जाते हैं।

लाइफस्टाइल और खान-पान से जुड़ी बातें

-खाना-पान की गलत आदतों और लाइफस्टाइल से जुड़ी कुछ अप्रिय गतिविधियों के कारण भी ब्रेस्ट पेन का सामना करना पड़ सकता है। जैसे, रनिंग और एक्सर्साइज के समय सही ब्रा का चुनाव ना करना, सोते समय पॉश्चर सही ना होना, पीरियड्स के दौरान खट्टी और ठंडी चीजों का अधिक सेवन करना आदि।

-जो महिलाएं चाय, कॉफी, सोडा और एल्कोहॉल का अधिक मात्रा में सेवन करती हैं, उनको अक्सर ब्रेस्ट में दर्द, हेवीनेस, बहुत अधिक संवेदनशीलता या असहजता की समस्या हो सकती है।

लापरवाही और हॉर्मोनल परिवर्तन

-जो महिलाएं ऐंटिडिप्रेशन दवाएं लंबे समय तक ले रही होती हैं, उन्हें भी कई बार इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ जाता है। लेकिन ऐसे केस बहुत ही कम मात्रा में देखने में आते हैं।

-हां, जो महिलाएं इन दवाओं का सेवन ठीक प्रकार से नहीं करती हैं और अपनी इच्छा के अनुसार दवाएं बंद कर देती हैं और फिर लेना शुरू कर देती हैं, उनमें ब्रेस्ट पेन की समस्या अधिक देखने को मिलती है।

-ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मेंटल डिजीज से जुड़ी दवाएं हमारे शरीर में हॉर्मोनल संतुलन को बनाने का काम करती हैं। यदि इन दवाओं को अनियमित रूप से लिया जाता है तो इससे हमारे शरीर में हॉर्मोन्स का असंतुलन बढ़ता है, जो महिलाओं में ब्रेस्ट पेन के रूप में सामने आ सकता है।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This