Saturday , January 23 2021 5:31 PM
Home / Lifestyle / प्रेगनेंसी क्रेविंग को शांत करने के लिए कुछ हेल्‍दी खाना है तो ट्राई करें ये स्‍नैक्‍स,

प्रेगनेंसी क्रेविंग को शांत करने के लिए कुछ हेल्‍दी खाना है तो ट्राई करें ये स्‍नैक्‍स,


प्रेगनेंसी क्रेविंग के बारे में तो आपने सुना ही होगा। इसमें गर्भवत‍ी महिलाओं को कभी-भी, कुछ भी खाने की इच्‍छा होने लगती है और इस चक्‍कर में काफी अनहेल्‍दी चीजें भी खा लेती हैं। अगर आप भी प्रेगनेंट हैं और अपनी क्रेविंग को सिर्फ हेल्‍दी खाने से शांत करना चाहती हैं तो यहां बताए गए कुछ हेल्‍दी स्‍नैक्‍स खा सकती हैं।
​ताजे मौसमी फल : ताजे फल खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। रोजाना फलों का सेवन करने से मानसिक और शारीरिक रूप से आप स्वस्थ महसूस कर सकती हैं।
सभी फलों में कोई न कोई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। जब भी आपको भूख लगे तो आप कोई भी फल खा सकती हैं। इससे आपके शरीर को पोषण भी मिलेगा और भूख भी शांत हो जाएगी।
खट्टे फलों में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है जो कि आयरन को सोखने में शरीर की मदद करता है। इन्‍हें भी स्‍नैक्‍स में खाना फायदेमंद रहता है।
यह भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में मतली और उल्‍टी रोकने के लिए नींबू पानी पीती हैं, तो पहले जान लें कितना सुरक्षित है ये आपके लिए
​फ्रूट चाट : एक फल खाने से कई बेहतर होता है फलों की चाट बनाकर खाना। इससे आपको हर फल के अलग-अलग पोषक तत्‍व मिल जाएंगें। सेब और अमरूद जैसे फलों को छिलके के साथ ही खाएं क्‍योंकि छिलकों में भी पोषण तत्‍व और फाइबर होता है। इस बात का ध्‍यान रखें कि हमेशा वही फल खाएं जो मौसमी हो।
दलिया : दलिया को पौष्टिक आहार में से एक माना जाता है। यह शरीर में एनर्जी बढ़ाने में मदद करता है और बाकी अनाजों की तुलना में धीरे-धीरे पचता है जिससे लंबे समय तक भूख नहीं लगती है और पेट भरा हुआ महसूस होता है। आप दलिये में ताजे फल, सूखे मेवे और स्‍प्राउट्स डालकर उनका स्‍वाद दोगुना कर सकती हैं।
​स्प्राउट्स : स्प्राउट्स यानि अंकुरित अनाज में आयरन और फाइबर होता है। प्रेगनेंसी में आयरन जहां शिशु के सही विकास और मां को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है, वहीं फाइबर प्रेगनेंसी में होने वाली कब्‍ज से बचाता है। आप स्‍नैक्‍स में स्‍प्राउट्स खा सकती हैं।
आप सलाद या रायते में कच्चे स्प्राउट्स डालकर खा सकती हैं या आटे में स्‍प्राउट्स गूंथकर परांठे बना सकती हैं और सूप में भी इन्‍हें मिलाकर उसका पोषण बढ़ा सकती हैं।
​फ्रूट स्‍मूदी : आप फलों जैसे आम और केले को दही में मिलाकर या इसकी स्मूदी तैयार कर खा सकती हैं। इससे आपको फलों के गुण भी मिलेंगें और टेस्‍ट भी आएगा।
फलों की स्मूदी एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन सी और कैल्शियम से भरपूर होती है। आपको जो भी फल पसंद है, उससे आप अपनी टेस्‍टी और हेल्‍दी स्‍मूदी बना सकती हैं।
​छोले और चने की चाट : छोले में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन और ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है। इसे अपने आहार में शामिल करना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। छोले उबाल लें और फिर उसमें ताजी सब्जियां जैसे खीरा, शिमला मिर्च, प्याज, टमाटर, हरी मिर्च, ब्रोकली आदि मिलाकर खाएं।
​दही के साथ बादाम : दही को कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत माना जाता है! इसमें प्राकृतिक प्रोबायोटिक्स के गुण भी होते हैं जो संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। बादाम में विटामिन बी, फोलेट और विटामिन बी6 होता है जो खासतौर पर प्रेगनेंसी की पहली तिमाही के लिए जरूरी होते हैं। आप बादाम की लस्‍सी या श्रीखंड भी बना सकती हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This