Saturday , February 4 2023 8:58 AM
Home / Off- Beat / आखिर बाएं हाथ की चौथी उंगली में क्यों पहनाई जाती हैं अंगूठी!

आखिर बाएं हाथ की चौथी उंगली में क्यों पहनाई जाती हैं अंगूठी!

12
शादी एक पवित्र बंधन हैं। हमारे हिंदू धर्म में शादी से पहले कई तरह की रस्मे की जाती हैं जैसे कि सगाई की रस्म। हम अक्सर देखते हैं कि सगाई की अंगूठी हमेशा बाएं हाथ की चौथी उंगली में ही पहनाई जाती है लेकिन ये अंगूठी इसी हाथ में क्यों पहनाई जाती है। आइए जानें इसका कारण।

एक कपल ने शुरू की परंपरा

दरअसल, इसे विवाह का चिन्ह माना जाता है। कहते हैं कि यह परंपरा एक कपल ने शुरू की थी। एक कपल ने शादी के समारोह में इस परंपरा की शुरूआत की गई थी। उस समय में यह माना जाता था कि बांए हाथ की चौथी उंगली की नस सीधे दिल से जुड़ी होती है। इसके कारण इस नस को प्यार की नस कहा जाता था। पश्विमी देश के लोगों को इस परंपरा में अधिक विश्वास था। इसी वजह से वे अपने बाएं हाथ की चौथी उंगली में अंगूठी पहनने लगे।

प्यार को जाहिर करने का तरीका

कहते हैं कि शादी की अंगूठी पहनना एक दूसरे के लिए प्यार जाहिर करने का तरीका होता है। इस तरह कपल एक दूसरे को रोमांटिक तरीके से अपने प्यार का इजहार करते हैं। शादी वाले दिन एक दूसरे की उंगली में अंगूठी पहनाकर हम एक दूसरे के प्रति वफादार व प्रतिबद्ध रहने का प्रण लेते हैं। इसे पहन कर व्यक्ति अपनी पत्नी व परिवार की जिम्मेदारियों को पूरा करने की क्षमता को प्रकट करता है।

दाएं हाथ में भी पहनी जाती है शादी की अंगूठी

वैसे एेसा कोई नियम नहीं है कि आपको अपनी शादी की अंगूठी बाएं हाथ की चौथी उगली में ही पहननी है। मध्य और उत्तरी यूरोप के कई सारे शादीशुदा जोड़े अपने दाएं हाथ की चौथी उंगली में भी शादी की अंगूठी पहनते हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This