Thursday , February 9 2023 2:22 AM
Home / Lifestyle / सिगरेट पीने से महिलाओं को ज्यादा रहता है इन 10 बीमारियों का खतरा

सिगरेट पीने से महिलाओं को ज्यादा रहता है इन 10 बीमारियों का खतरा


स्मोकिंग करना सेहत के लिए हानिकारक होता है लेकिन हाल में एक अध्ययन के मुताबिक महिलाओं के लिए यह ज्यादा खतरनाक होता है। जी हां, आजकल महिलाएं भी स्मोकिंग करने के मामले में पुरूषों से पीछे नहीं है लेकिन इसके चक्कर में वह अपनी सेहत को नुकसान पहुंचा रही हैं। इतना ही नहीं, सिर्फ सिगरेट के धुएं के संपर्क में आने से भी महिलाओं को नुकसान हो सकता है। इससे ना सिर्फ प्रेग्नेंसी में समस्याएं पैदा होती है ब्लकि यह दिल व कैंसर जैसी बीमारियों का कारण भी बनता है। चलिए आपको बताते हैं किस तरह महिलाओं की सेहत को नुकसान पहुंचाती है सिगरेट।

सिगरेट से महिलाओं को होते हैं ये नुकसान
गर्भपात का खतरा
सिगरेट व बीड़ी का सेवन करने वाली महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान भी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इससे महिलाओं में इनफर्टिलिटी और गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है।

PunjabKesari
भ्रूण के विकास में रूटावट
प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को सिगरेट नहीं पीनी चाहिए। इतना ही नहीं, अगर इस दौरान महिलाएं सिगरेट के धुएं के संपर्क में भी आती हैं तो इससे भी बच्चे के प्रजनन पर बुरा असर पड़ता है, जिससे भ्रूण की विकास रूक जाता है।

स्तनपान
जो महिलाओं सिगरेट पीती हैं इस महिला के स्तन में दूध की मात्रा कम होती है, जिससे उनके बच्चे पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

बच्चा हो सकता है मोटापे का शिकार
शोध में कहा गया है कि अगर मां, गर्भधारण के शुरुआती दिनों में भी धूम्रपान करती है तो उसका असर आगे जाकर बच्चे के मोटापे के रूप में सामने आ सकता है। उन्होंने कहा, अगर महिलाएं इस दौरान सिगरेट पीती है तो इस बात की संभावना बढ़ जाती है कि बच्चे को गर्भ में उचित पोषण न मिल पाता हो।

हड्डियां होती हैं कमजोर
शोध के अनुसार, सिगरेट पीने से शरीर में 2 प्रोटीनों का निर्माण ज्यादा होने लगता है, जिससे अस्थि ऊतकों को हटाने वाली अस्थि कोशिकाओं ‘ओस्टेओक्लास्टस’ के निर्माण में वृद्धि हो जाती है। इससे महिलाओं हड्डियां कमजोर होनी शुरू हो जाती है।
दिल के रोग
सिगरेट में निकोटीन और अन्य जहरीले पदार्थ होते हैं जो ह्रदय रोग को बढ़ावा देते हैं। धूम्रपान करने वाली महिलाओं में दिल के रोग जैसे कोरोनरी हार्ट डिजीज होने की संभावना बढ़ जाती है।
फेफड़ों का कैंसर
फेफड़ों के कैंसर होने का खास कारण धूम्रपान करना होता है। पुरूषो के बराबर धूम्रपान करने वाली महिलाओं में फेफड़ों के कैंसर होने के चांस बहुत अधिक होते हैं। पुरूषों के मुकाबले महिलाओं में इसके चांस ज्यादा देखे जाते हैं।
किडनी को भी खराब करती है सिगरेट
धूम्रपान फेफड़ों और दिल ही नहीं, बल्कि गुर्दे के लिए भी खतरनाक है। अभी तक यही माना जाता था कि सिगरेट पीने से फेफड़े और दिल की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। रोज 1 पैकेट से अधिक सिगरेट पीने से किडनी खराब होने का खतरा 51% तक बढ़ जाता है।
अस्थमा
धूम्रपान करने से शरीर में कार्बन मोनोऑक्साइड चली जाती है जिससे शरीर को प्राप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती और सांस लेने में भी मुश्किल होती है। जरा-सा चलने पर सांस फूलने लगती है। आखिर में यह अस्थमा जैसी गंभीर बीमारी का रूप ले लेती है।

जल्दी आता है बुढ़ापा
पुरूषों की तुलना में महिलाओं की स्किन ज्यादा सेंसटिंव व नाजुक होती हैं। ऐसे में सिगरेट का असर भी उनपर जल्दी होता है। जो महिलाएं सिगरेट पीती हैं उन्हें जल्दी एंटी-एजिंग समस्याएं जैसे झुर्रियां, डार्क सर्कल्स, होंठों का कालापन जैसी समस्याएं होने लगती हैं। दरअसल, इससे स्किन में रक्त प्रवाह और ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है, जिसके कारण चेहरे पर बढ़ती उम्र के समस्याएं दिखने लगती हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This