Tuesday , October 26 2021 12:45 PM
Home / Lifestyle / नहाते समय हर कोई भूल जाता है अपने इन 5 अंगों को धुलना, हो सकती है जानलेवा बीमारी

नहाते समय हर कोई भूल जाता है अपने इन 5 अंगों को धुलना, हो सकती है जानलेवा बीमारी

कोरोना महामारी ने हम सभी को पर्सनल हाइजीन को लेकर बेहद सर्तक कर दिया है। कोरोना वारयस से बचने के लिए हम बार-बार हाथ धोते हैं, मास्क पहनने से पहले कई बार मुंह भी धोते हैं और भी कई तरह से स्वच्छता का ख्याल रखते हैं।
लेकिन अक्सर सुबह काम पर जाने की जल्दी और भागदौड़ के कारण हम नहाते वक्त शरीर के कुछ मुख्य अंगों को धोना भूल जाते हैं, जिन्हें वास्तव में ठीक से धोने की जरूरत होती है। इन्हें अवॉइड करने से स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ जाती हैं। तो आइए जानते हैं कि कौन से हैं वो 5 जरूरी अंग, जिन्हें हम नियमित रूप से ठीक से नहीं धोते।
​जीभ : हममें से कई लोगों के लिए डेंटल हाइजीन केवल दांतों और मसूड़ों की सफाई तक ही सीमित है। लेकिन जीभ को भी साफ करना उतना ही जरूरी है। आमतौर पर लोग सोचते हैं कि मुंह की स्वच्छता के लिए माउथवॉश का इस्तेमाल करना ही काफी है, लेकिन यह सच नहीं है। दरअसल, हमारी जीभ में लकीरें और उभार होते हैं, जहां बैक्टीरिया को आसानी से छिपने की जगह मिल जाती है। इस प्रकार न केवल सांस से दुर्गंध आती है, बल्कि दांतों में सडऩ की समस्या भी होने लगती है। इसलिए हमें ब्रश करते समय अपनी जीभ को रोजाना टंग स्क्रेपर से साफ करना चाहिए।
​नाभि (Belly Button) : बेली बटन को नाभि कहते हैं। यह शरीर का सबसे ज्यादा नजरअंदाज किया जाने वाला अंग है। हालांकि, अगर इसे ठीक से साफ न किया जाए, तो यहां गंदगी जमेगी और बैक्टीरिया का विकास होने लगेगा। नाभि जैसी जगह जो गहरी और नम होती है, बैक्टीरिया के प्रजनन के लिए आदर्श जगह है। बैक्टीरिया के प्रजनन से दुर्गंध और संक्रमण हो सकता है। इसलिए नहाने के बाद रोजाना अपने नाभि को तौलिया से सुखाएं और इसे रूई से साफ करने की आदत डालें।
नाखून के नीचे : जैसा कि सभी जानते हैं कि कोविड-19 में कीटाणुओं और जीवाणुओं को दूर रखने के लिए हम सभी ने हाथ धोने पर ज्यादा जोर दिया है। लेकिन क्या आपको लगता है कि सिर्फ हाथों को धोना ही काफी है। नहीं, बल्कि अपने नाखूनों के नीचे की सफाई करना भी उतनी ही जरूरी है।
क्योंकि बैक्टीरिया आपके नाखूनों के नीचे जमा हो सकते हैं, जो दस्त जैसी बीमारियों का कारण बनते हैं। बेहतर है कि समय-समय पर आप नाखून के अंदर के हिस्से की भी सफाई करें। अच्छा होगा कि महीने में एक बार मेनिक्योर करा लें। इससे यहां जमने वाली गंदगी अच्छे से साफ हो जाएगी और आप बीमारियों से बचे रहेंगे।
​कानों के पीछे : यह वह क्षेत्र है, जहां सिबेशियस ग्लैंड स्थित होती है। यह सीबम का स्त्राव करती है। यहां बैक्टीरिया और गंदगी आसानी से जमा हो सकती है। इसलिए हमें अपने कान के पीछे के हिस्से को साफ करना चाहिए। हालांकि, आमतौर पर हम इसे साफ करना भूल जाते हैं या कहें कि अनदेखा कर देते हैं।
कई लोग तो इसे अपने बालों को धोते समय ही साफ करते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर से गंदगी और बैक्टीरिया का सफाया करने के लिए इस अंग की साफ सफाई बहुत जरूरी है। इस क्षेत्र को साफ करने के लिए आप गर्म पानी में डूबा हुआ कपड़ा लेकर अपने कानों के पीछे रगड़ सकते हैं। इससे यहां किसी तरह की गंदगी और बैक्टीरिया जमा होने की संभावना काफी कम हो जाएगी।
​पैर की उंगलियों के बीच की जगह : शरीर का एक और हिस्सा, जिसे आमतौर पर अनदेखा किया जाता है वह है पैर के बीच की उंगलियों की जगह। इस पर ध्यान न देने या सफाई न करने के कारण इस हिस्से में गंदगी जमा हो सकती है। अपने पैर की उंगलियों के बीच सफाई न करने से गंदगी और बैक्टीरिया का निर्माण होता है, जिसके कारण पैरों में से बदबू आती है, जिस वजह से कई बार लोगों के सामने शर्मिंदा भी होना पड़ता है। इसलिए नहाते वक्त हमेशा इस क्षेत्र को साबुन और पानी से साफ करें। इन्हें अच्छे से सुखाएं। यदि दुर्गंध का अहसास हो, तो तुरंत टेल्कम पाउडर लगा लें। इसके अलावा महीने में एक बार पेडिक्योर कराना भी अच्छा तरीका है।
उम्मीद है अब आप समझ गए होंगे कि यहां बताए गए शरीर के इन अंगों को साफ रखना कितना जरूरी है। तो अब आप खुद से वादा करें कि हर रोज इन अंगों को साफ करेंगे और स्वस्थ रहेंगे।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This