Monday , May 10 2021 2:51 PM
Home / Lifestyle / अपने मम्‍मी-डैडी से सीखें कम पैसों में भी बच्‍चों की अच्‍छी परवरिश करना, उनकी ये खूबियां आएंगी आपके काम

अपने मम्‍मी-डैडी से सीखें कम पैसों में भी बच्‍चों की अच्‍छी परवरिश करना, उनकी ये खूबियां आएंगी आपके काम

भले ही अब जिंदगी पहले से ज्‍यादा आसान हो गई हो और पेरेंटिंग में कई बदलाव आ गए हों, लेकिन फिर भी सलाह के लिए तो हम अपने बड़ों के पास ही जाते हैं। बच्‍चों की परवरिश में भी घर के बड़ों की सलाह बहुत कम आती है। उन्‍हें भले ही आजकल के लेटेस्‍ट ट्रेंड की जानकारी न हो लेकिन वो परिवार के खर्चों को चतुराई से मैनेज करना बखूबी जानते हैं। आप भी परिवार के खर्चों और जरूरतों को पूरा करने के लिए उनकी मदद ले सकते हैं।
​चाहत से पहले जरूरत : आपको बचपन में हमेशा अपने पेरेंट्स से यही सुनने को मिला होगा कि डेजर्ट तभी मिलेगा जब आप अपनी प्‍लेट का सारा खाना खत्‍म कर लेंगे। इससे आपको अपनी चाहत पूरी करने के लिए पहले शरीर की पोषण की जरूरत को पूरा करना होता था।
बच्‍चों की परवरिश में भी यही बात मायने रखती है कि आपको अपने बच्‍चे की हर चाहत या डिमांड को पूरा करने की जरूरत नहीं है। पहले परिवार की जरूरतों पर ध्‍यान दें।
​खर्चों पर रखें पैनी नजर : पहले की महिलाएं काम पर नहीं जाती थीं और घर चलाती थीं। उन्‍हें पति की कम कमाई में ही परिवार के सभी सदस्‍यों की जरूरतों को पूरा करना होता था।
वहीं पेरेंट्स बच्‍चों को एक फिक्‍स पॉकेट मनी देते थे। इससे बच्‍चों को यह समझने का मौका मिलता था कि उन्‍हें किस चीज पर कितने पैसे खर्च करने चाहिए और वो पहले जरूरत की चीजें खरीदा करते थे।
​क्रेडिट कार्ड को भूल जाएं : हमारे पेरेंट्स उतना ही खर्च करते थे, जितना उन पर कैश होता था। इससे वे उधारी लेने से बच जाते थे और ये बात भी समझते थे कि पहले किस चीज पर खर्च करना है। वो कभी वो चीज नहीं खरीदते थे, जिसके लिए उनके पास पैसे न हों।
आजकल क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल का चलन काफी बढ़ गया है और अपने बच्चों की जरूरतों को पूरा करने के लिए हम अपनी क्षमता से ज्यादा खर्च कर देते हैं।
इसका असर पूरे परिवार की फाइनेंशियल स्थिति पर पड़ता है इसलिए अपने पेरेंट्स से सीखें कि उतना ही खर्च करना चाहिए, जितना आपके पास पैसा हो।
​करनी होगी एक्‍स्‍ट्रा मेहनत : आप जब कोई एक्‍स्‍ट्रा काम करते थे, तो आपके मां-बाप आपको एक्‍स्‍ट्रा पैसे या कैंडी देते थे। इससे यह सीख मिलती है कि लाइफ में कुछ ज्‍यादा पाने के लिए एक्‍स्‍ट्रा काम भी करना पड़ता है। आप भी अपने बच्‍चे को रिवॉर्ड देकर समझाएं कि कोई भी चीज मुफ्त में नहीं मिलती है। अपनी पसंद और चाहत को पूरा करने के लिए हमेशा मेहनत करनी पड़ती है।
पहले के जमाने में पेरेंट्स काफी समझदार और ऑर्गेनाइज हुआ करते थे और फिजूलखर्ची से दूर ही रहते थे। आपके भी अपने पेरेंट्स के यह टिप्‍स बहुत काम आएंगे।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This