Tuesday , August 9 2022 1:49 PM
Home / Lifestyle / ये 4 natural Tea आपके जीवन को बना देंगी आसान

ये 4 natural Tea आपके जीवन को बना देंगी आसान

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के निदान के लिए डॉक्टर आपसे पीरियड्स और शरीर में होने बदलाव से संबंधित अन्य जानकारियां लेते है। और बल्ड टेस्ट से एंड्रोजन के स्तर का पता लगाते हैं। अगर टेस्ट पॉजिटिव आता है तो आप PCOS से ग्रसित हैं। इसके लिए मार्केट में कई दवाईयां उपलब्ध है लेकिन आप इसे नेचुरल तरीकों से भी ठीक कर सकती हैं।
पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) हार्मोनल संतुलन के बिगड़ने से होने वाला रोग है। यह स्थिति व्यस्क महिलाओं में आम है, जिसके कई गंभीर परिणाम होते हैं। पीसीओएस वाली महिलाओं में मासिक धर्म अनियमित और लंबे समय तक हो सकता है। इसके अलावा यह समस्या एंड्रोजन (पुरुष हार्मोन) के लेवल को बढ़ाने का काम करती है। इसके साथ ही इस समस्या से ग्रसित महिलाओं में नियमित रूप से Egg नहीं बन पाता है। जिससे महिलाओं को गर्भधारण करने में कठनाई होती है। ऐसे में इससे छुटकारा पाने के लिए आप आयुर्वेद डॉक्टर के टिप्स फॉलो कर सकते हैं।
आयुर्वेद डॉक्टर दीक्षा भावसार ने सोशल मीडिया पर PCOS से ग्रसित महिलाओं के लिए एक पोस्ट शेयर किया है। जिसमें उन्होंने इसे ठीक करने के नेचुरल और असरदार उपाय बताएं हैं। वह बताती हैं कि अपनी प्रकृति (शरीर-दिमाग के प्रकार) के अनुसार जीवनशैली में उचित बदलाव के साथ इन 5 हर्बल चाय ने मेरे रोगियों में पीसीओएस को ठीक करने में चमत्कारी परिणाम प्रदान किए हैं।
PCOS को ठीक करने का नेचुरल तरीका :
​ये 3 चीजें है PCOS को ठीक करने के लिए जरूरी
-3-pcos-
स्वस्थ भोजन
अच्छी नींद
व्यायाम और प्राणायाम
​पुदीने की चाय
यदि आप बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन, हिर्सुटिज़्म से जूझ रहें हैं और आपको ओवुलेट करने में परेशानी होती है, तो सुपरमिंट टी आपकी दिनचर्या में एक बढ़िया बदलावा ला सकती है। यह ओव्यूलेशन को बढ़ावा देता है और एण्ड्रोजन को कम करता है। हर सुबह खाली पेट इसे पीना कई फायदे पहुंचा सकता है।
​अदरक की चाय : अदरक महिलाओं के शरीर में मौजूद हार्मोन के रेग्यूलेट करने का काम करती है। अदरक में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण पाए जाते हैं। जो PCOS के कारण होने वाले ऐंठन, मूड स्विंग और सिरदर्द जैसे लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करता है। आप इसे सुबह या शाम किसी भी समय पी सकते हैं। इसके अलावा अतिरिक्त लाभ के लिए आप इसमें नींबू या शहद भी मिला सकते हैं।

​ग्रीन टी : यह PCOS से पीड़ित अधिक वजन और मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में इंसुलिन प्रतिरोध और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करने में योगदान देता है। ऐसे में आप नोर्मल चाय की जगह इस सेहतमंद चाय को अपने आहार का हिस्सा बना सकती है।
दालचीनी की चाय : दालचीनी आपके बढ़े हुए ब्लड शुगर और इंसुलिन के स्तर (जो पीसीओएस में सबसे आम है) को कम करने का काम करती है। इसके साथ ही वजन कम करने और पीरियड्स को नियमित करने में भी मदद करता है। कैफिन फ्री होने की वजह से आप इसे दिनभर में कभी भी एक कप पी सकते हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This