Sunday , July 3 2022 11:02 AM
Home / News / उधार लेकर इंपोर्ट करते हैं चाय, एक-एक प्याली कम पीएं… पाकिस्तानी मंत्री की अवाम से अपील

उधार लेकर इंपोर्ट करते हैं चाय, एक-एक प्याली कम पीएं… पाकिस्तानी मंत्री की अवाम से अपील

कंगाली के दहलीज पर खड़ा पाकिस्तान अपने नागरिकों के खाने-पीने की जरूरतों पर भी पाबंदी लगाना चाहता है। हाल में ही पाकिस्तान के एक मंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे एक-एक कप, दो-दो कप चाय कम पीएं। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान उधार लेकर चाय विदेशों से इंपोर्ट करता है। ऐसे में अगर लोग चाय पीना कम कर देंगे तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को काफी फायदा होगा। इंपोर्ट कम होने से पाकिस्तानी रुपया विदेशों में कम जाएगा और देश की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा। हालांकि पाकिस्तानी मंत्री के इस बयान का सोशल मीडिया पर जमकर मजाक भी उड़ाया जा रहा है।
शहबाज शरीफ सरकार में योजना मंत्री अहसान इकबाल ने कहा, “मैं देश से चाय की खपत में एक से दो कप की कटौती करने की अपील करता हूं क्योंकि हम कर्ज पर चाय का आयात करते हैं।” 22 करोड़ की आबादी वाला पाकिस्तान दुनिया में चाय का सबसे बड़े आयातकों में से एक है। इकबाल ने कहा कि बाजारों में विक्रेताओं को भी बिजली की बचत के लिए रात 8.30 बजे तक दुकान बंद करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि इससे देश को पेट्रोलियम उत्पादों के आयात बिल में कटौती करने में मदद मिलेगी।
पिछले कई साल से कंगाली में फंसा है पाकिस्तान : पाकिस्तान पिछले कई साल से आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इस कारण पूरे देश में खाद्यान, तेल और गैस की कीमतों में बेहताशा वृद्धि दर्ज की गई है। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से नीचे गिर रहा है। फरवरी के अंत में पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार 16.3 बिलियन डॉलर था, जो मई में घटकर 10 बिलियन डॉलर हो गया है। 6 बिलियन डॉलर से पाकिस्तान के दो महीने के आयात का खर्च चुकाया जा सकता है।
पाकिस्तान में मुर्गे की मीट के दाम में लगी आग : पाकिस्तान के कराची में मुर्गे का एक किलोग्राम मीट 600 रुपये तक बिक रहा है। पाकिस्तान में बड़ी संख्या में लोग बीफ और बकरे का गोश्त महंगा होने के कारण मुर्गा खरीदते हैं। ऐसे में चिकन के अचानक महंगा होने से आम लोगों की थाली से मीट गायब हो गया है। दुकानदारों का कहना है कि आने वाले दिनों में मुर्गे की कीमतों में और ज्यादा बढ़ोत्तरी होने की संभावना हैं।
पाकिस्तान के पास 2 महीने आयात लायक विदेशी मुद्रा : पाकिस्तान के पास सिर्फ दो महीने के आयात जितनी ही विदेशी मुद्रा बची है। ऐसे में अब ये कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की हालत भी श्रीलंका जैसी हो सकती है और वह भी अपने लोन चुकाने में डिफॉल्ट कर सकता है। अपना विदेशी मुद्रा भंडार और घटने से बचाने के लिए हाल ही में पाकिस्तान ने फोन, शैंपू, पास्ता, कार, फोन, सूखे मेवे, मांस, फल, फर्नीचर, घरेलू उपकरण, हथियार, मेकअप, सिगरेट समेत करीब 38 सामानों के आयात पर बैन भी लगा दिया है।
डॉलर की तुलना में रुपया पहुंचा 205 के पार : पाकिस्तानी रुपये पर दबाव तेजी से बढ़ता जा रहा है। हालात ये हैं कि अब एक डॉलर की कीमत 205 पाकिस्तानी रुपये के बराबर पहुंच चुकी है। यानी सीधे-सीधे कहें तो डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया तेजी से कमजोर होता जा रहा है। पाकिस्तान में तेल और बिजली पर सब्सिडी दी जा रही है और विशेषज्ञ मानते हैं कि जब तक उसे खत्म नहीं किया जाता, रुपया गिरता ही रहेगा।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This