Thursday , May 19 2022 8:46 PM
Home / News / इजरायली पीएम नफ्ताली बेनेट के भारत दौरे पर बड़ा ऐलान, राजनयिक संबंधों के 30 साल भी पूरे हुए

इजरायली पीएम नफ्ताली बेनेट के भारत दौरे पर बड़ा ऐलान, राजनयिक संबंधों के 30 साल भी पूरे हुए


इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट इस साल भारत का दौरा कर सकते हैं। इस साल दोनों देशों के राजनयिक संबंधों के 30 साल भी पूरे हुए हैं। इस अवसर पर भारत और इजरायल ने वर्चुअली एक लोगो (LOGO) भी जारी किया है। भारत में इजरायल के राजदूत नाओर गिलोन ने पीेएम बेनेट के भारत दौरे की पुष्टि भी की है। उनके साथ इजरायली अधिकारियों का एक बड़ा प्रतिनिधिमंडल भी भारत आएगा। नफ्ताली बेनेट को भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पिछले साल भारत आने का न्योता दिया था। नफ्ताली बेनेट के भारत दौरे से दोनों देशों के रिश्तों के और ज्यादा मजबूत होने की उम्मीद है।
भारत-इजरायल राजनयिक संबंधों के 30 साल पूरे : राजनयिक संबंध के 30 वर्ष पूरे होने के मौके पर भारत और इजरायल ने पूरे साल जश्न मनाने का भी ऐलान किया है। इसी जश्न को गति देने के लिए दोनों देशों के राजनयिकों ने एक विशेष लोगो भी जारी किया है। इस इस लोगो को लॉ जारी करने के लिए आयोजित वेबिनार में गिलोन ने कहा कि वह भारत में राजदूत बनकर खुद को सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं। गिलोन ने दो प्राचीन सभ्यताओं के बीच संबंध को असाधारण और नियमों से परे बताया।
एस जयशंकर ने दिया था पीएम नफ्ताली को न्योता : गिलोन ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को और मजबूत करने को लेकर इजरायल के प्रधानमंत्री और अन्य अधिकारी इस वर्ष भारत यात्रा पर आ सकते हैं। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पिछले वर्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से इजरायली प्रधानमंत्री बेनेट को भारत आने का न्योता दिया था। गिलोन ने कहा कि यह हमारी पारस्परिक सफलताओं पर विचार करने और आगामी 30 वर्ष के आपसी संबंधों को निर्धारित करने के लिहाज से यह एक महत्वपूर्ण अवसर है।
30 साल पूरे होने पर जारी किया गया स्पेशल LOGO : उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में संबंध आने वाले वर्षों में और मजबूत होंगे। गिलोन ने इस लोगो को तेल अवीव में तैनात भारतीय राजदूत संजीव सिंगला के साथ वर्चुअल माध्यम से जारी किया। इस लोगो में डेविड स्टार और अशोक चक्र शामिल है, ये दोनों प्रतीक दोनों देशों के ध्वज में भी शामिल हैं। लोगो में 30 का अंक भी है, जो राजनयिक संबंधों के 30 वर्ष पूरे होने को दर्शाता है।
भारत-इजरायल रणनीतिक साझेदारी के भी 5 साल हुए : सिंगला ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष 2022 द्विपक्षीय रणनीतिक साझेदारी के पांच वर्ष का भी प्रतीक है, जो 2017 में प्रधानमंत्री मोदी की ऐतिहासिक इजरायल यात्रा के दौरान स्थापित की गई थी। भारतीय राजदूत ने बताया कि कैसे नवानगर के महाराजा जाम साहिब ने न केवल कई यहूदी बच्चों की जान बचाई, बल्कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान उन्हें आश्रय प्रदान किया। महाराजा ने जब तक वे रहना चाहे तब तक उनकी देखभाल की और संरक्षण प्रदान किया।
भारत के निखिल ने बनाया है दोनों देशों के स्पेशल Logo : दोनों देशो के बीच राजनयिक संबंधों की 30वीं वर्षगांठ से जुड़ा लोगो बनाने के लिए इजरायल और भारत के प्रमुख डिजाइन कॉलेजों के छात्रों के लिए एक प्रतियोगिता शुरू की गई थी। एनआईटी के निखिल कुमार राय के डिजाइन को सर्वसम्मति से समारोह के लिए स्मारक लोगो के रूप में चुना गया था। वाराणसी निवासी निखिल एनआईटी अहमदाबाद में अंतिम वर्ष के छात्र हैं और उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के दृश्य कला संकाय में भी अध्ययन किया है।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This