Thursday , September 24 2020 2:01 PM
Home / News / अब इंडोनेशिया ने खदेड़ा चीन का गश्ती जहाज, साउथ चाइना सी में तनाव चरम पर

अब इंडोनेशिया ने खदेड़ा चीन का गश्ती जहाज, साउथ चाइना सी में तनाव चरम पर


साउथ चाइना सी एक बार फिर एशिया में तनाव का नया क्षेत्र बन गया है। इंडोनेशिया ने अपने आर्थिक क्षेत्र में घुसे चीन के एक गश्ती जहाज को खदेड़ दिया है। जिसके बाद दोनों देशों में तनातनी चरम पर पहुंच गई है। चीन के पलटवार की आशंका को देखते हुए इंडोनेशियाई युद्धपोतों ने अपनी गश्त को तेज कर दिया है। वहीं, इस क्षेत्र के पास चीनी युद्धपोतों की गतिविधि भी रिकॉर्ड की गई है। इससे पहले जापान ने चीन की पनडुब्बी को अपने इलाके से खदेड़ा था।

नातुना द्वीप को लेकर तनाव बढ़ा
इंडोनेशिया ने चीन के जहाज को नातुना द्वीप के पास से खदेड़ा है। यह क्षेत्र इंडोनेशिया के एक्सक्लूसिव इकनॉमी जोन में आता है। इंडोनेशियाई समुद्री सुरक्षा एजेंसी को चीन के जहाज 5204 के इंडोनेशियाई विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र में प्रवेश करने के बारे में पता शुक्रवार रात में चला था। इंडोनेशियाई समुद्री सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख आन कुर्निया ने बताया कि जानकारी मिलने के बाद हमने अपने एक गश्ती जहाज को चीन के इस जहाज के पास भेजा।

इंडोनेशिया ने खदेड़ा चीनी जहाज
इंडोनेशियाई जहाज और चीन के जहाज के बीच एक किलोमीटर की दूरी से इलाके पर दावे को लेकर बातचीत की गई। जिसके बाद इंडोनेशियाई जहाज ने चीनी जहाज को तुरंत वह इलाका छोड़ने को कहा। लेकिन, चीनी जहाज ने इस इलाके को अपने नाइन डैश लाइन के अंदर होने का दावा किया। जिसके बाद से इंडोनेशियाई जहाज ने चीनी जहाज को खदेड़ दिया।

नातुना द्वीप पर चीन करना चाहता है कब्जा
नातुना द्वीप के पास चीनी झंडे वाले मछली पकड़ने की नौकाएं अक्सर देखी जाती हैं। चीनी सरकार समर्थित ये नौकाएं ड्रैगन के दावे को लेकर भेजी जाती हैं। जिनकी रखवाली करने के लिए चीनी पेट्रोल वेसल भी तैनात होते हैं। जिसके बाद इस इलाके में इंडोनेशिया ने भी अपनी नौसेना की तैनाती बढ़ा दी है।

साउथ चाइना सी में चीन का इन देशों से विवाद
साउथ चाइना सी के 90 फीसदी हिस्से पर चीन अपना दावा करता है। इस समुद्र को लेकर उसका फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई और वियतनाम के साथ विवाद है। वहीं, पूर्वी चाइना सी में जापान के साथ चीन का द्वीपों को लेकर विवाद चरम पर है। हाल में ही अमेरिका ने साउथ चाइना सी पर चीन के दावे को खारिज कर दिया था।

प्लैनेट लैब्स की इस सैटेलाइट तस्वीर में चीन ने हैनान द्वीप के यूलिन नेवल बेस पर बने एक सीक्रेट बंकर के दरवाजे पर चीन की टाइप 093 पनडुब्बी दिखाई दे रही है। विशेषज्ञों के अनुसार, द्वीप के अंदर इस सुरंग को ऐसा बनाया गया है जिसमें किसी भी परमाणु पनडुब्बी को आसानी से छिपाया जा सकता है। चीन कई साल से इस नेवल बेस का प्रयोग कर रहा है। ड्रैगन की पोल तब खुली जब टाइप 093 पनडुब्बी को इस सुरंग के दरवाजे पर सैटेलाइट ने देख लिया।

रणनीतिक रूप से अहम हैनान द्वीप फिलीपींस सागर और प्रशांत महासागर में चीन का प्रवेश द्वार है। चीन यहां से न केवल साउथ चाइना सी में पारसेल आइलैंड के ऊपर नजर रख सकता है, बल्कि ताइवान, फिलीपींस, वियतनाम जैसे देशों के खिलाफ भी कार्रवाई कर सकता है। पारसेल आईलैंज के पास ही अमेरिकी नेवी ने कुछ दिन पहले युद्धाभ्यास किया था। जिसमें, अमेरिका का एयरक्राफ्ट कैरियर यूएएस रोनाल्ड रीगन ने हिस्सा लिया था।

चीन के टाइप 093 पनडुब्बी को शेंग क्लास की पनडुब्बी भी कहा जाता है। इस पनडुब्बी को चाइना शिपबिल्डिंग इंडस्ट्री कॉर्पोरेशन ने बनाया है। यह पनडुब्बी वाईजे-90 सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के साथ सीजे-10 क्रूज मिसाइल से लैस है। यह पनडुब्बी परमाणु शक्ति से चलती है, जिसके कारण समुद्र में महीनों तक यह ऑपरेशन को अंजाम देने में सक्षम है।

एशिया में चीन की विस्तारवादी नीतियों से भारत को सबसे ज्यादा खतरा है। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण लद्दाख में चीनी फौज के जमावड़े से मिल रहा है। इसके अलावा चीन और जापान में भी पूर्वी चीन सागर में स्थित द्वीपों को लेकर तनाव चरम पर है। हाल में ही जापान ने एक चीनी पनडुब्बी को अपने जलक्षेत्र से खदेड़ा था। चीन कई बार ताइवान पर भी खुलेआम सेना के प्रयोग की धमकी दे चुका है। इन दिनों चीनी फाइटर जेट्स ने भी कई बार ताइवान के हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया है। वहीं चीन का फिलीपींस, मलेशिया, इंडोनेशिया के साथ भी विवाद है।

इंडोनेशिया ने इसी इलाके में किया था युद्धाभ्यास
जुलाई के आखिरी में इंडोनेशिया ने नातुना द्वीप के पास ही बड़े पैमाने पर युद्धाभ्यास किया था। विशेषज्ञों के अनुसार, चीन से बढ़ती तनातनी के बीच इंडोनेशिया तेजी से अपनी क्षमता को बढ़ा रहा है। इस अभ्यास में 24 युद्धपोतों ने हिस्सा लिया था, जिसमें दो मिसाइल डिस्ट्रॉयर और चार एस्कॉर्ट वेसल थे। इस दौरान इंडोनेशियाई नौसेना ने समुद्र और जमीन पर हमले का अभ्यास किया था। इस द्वीप को चीन अपने क्षेत्र में दिखाता है।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This