Friday , October 23 2020 4:08 AM
Home / Uncategorized / कैसे होता है अमेरिका में राष्ट्रपति पद का चुनाव, समझें पूरा प्रकरण

कैसे होता है अमेरिका में राष्ट्रपति पद का चुनाव, समझें पूरा प्रकरण

2
न्यूयॉर्क: अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव में अब महज दो दिन बचे हैं और ऐसे में लोगों का ध्यान एक बार यहां जटिल और लंबी चुनावी प्रक्रिया की ओर चला गया है। यहां की चुनावी प्रक्रिया भारत के चुनाव से बिल्कुल अलग है। रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के बीच के मुकाबले ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों का ध्यान खींचा है। अमेरिकी मीडिया ने भी इस बार के चुनावी अभियान को देश के इतिहास का सबसे गैरपारंपरिक चुनाव अभियान बताया है।

दुनिया का सबसे लंबा चुनाव
अमेरिका एक बार फिर चुनाव के लिए तैयार है। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की प्रकिया दुनिया में सबसे लंबी है,राष्ट्रपति चुनाव के लिए 597 दिन लगते है जो कि 8 नवंबर को मतदान के साथ खत्म हो जाएगा।

इस तरह चुना जाएगा राष्ट्रपति
राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया काफी जटिल है। यहां मतदाता निर्वाचक मंडल इलेक्टोरल कॉलेज के सदस्यों का चुनाव करते हैं और फिर ये लोग आठ नवंबर को राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति के लिए मतदान करते हैं। देश के 50 प्रांतों और वाशिंगटन डीसी में अलग अलग संख्या में निर्वाचक मंडल के सदस्य होते हैं। हर प्रांत से कांग्रेस में जितने सदस्य होते हैं उतने ही सदस्य निर्वाचक मंडल के होते हैं। संविधान के 23वें संशोधन के तहत वाशिंगटन टीसी के पास निर्वाचक मंडल के तीन सदस्य चुनने का अधिकार है। निर्वाचक मंडल के कुल सदस्यों की संख्या 538 होती है। ये लोग राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति का चुनाव करते हैं। निर्वाचक मंडल के कम से कम 270 सदस्यों का समर्थन हासिल करने वाला उम्मीदवार अमेरिका का राष्ट्रपति चुना जाता है। भारत में बहुदलीय व्यवस्था है और संसदीय लोकतंत्र है, लेकिन वहां राष्ट्रपति की व्यवस्था वाली सरकार नहीं है।

हिलेरी और ट्रंप के बीच काटे की टक्कर
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कांटे की टक्कर के मद्देनजर हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप उन निर्णायक मतदाताओं को आखिरी पलों में रिझाने की कोशिश कर रहे हैं जो आखिरी पलों में किसी पार्टी के पक्ष में वोट डालने का मन बनाते हैं। हिलेरी अपनी मामूली चुनावी सर्वेक्षण बढ़त के साथ बियोंस और केरी पेरी की सप्ताहांत पॉप कार्यक्रमों की मेजबानी कर रही हैं वहीं ट्रंप ने लोवा, मिनेसोटा, मिशिगन, पेन्नसीलवानिया, वर्जीनिया, फ्लोरिडा, उत्तर कैरोलिना और न्यू हैम्पशायर होते हुए कई शहरों का तूफानी दौरा शुरू किया है। हिलेरी 69 उत्तर कैरोलिना के के रालेघ में मध्य रात्रि में अपना आखिरी भाषण देंगी। हालांकि फिलाडेल्फिया में उससे पहले हिलेरी और बिल क्लिंटन एक विशाल रैली करेंगी जिसमें उनके साथ मिशेल ओबामा भी होंगी। इस बीच, मैकक्लेची-मारिस्ट सर्वेक्षण में कहा गया कि राष्ट्रीय तौर पर संभावित मतदाताओं के बीच हिलेरी 44 प्रतिशत और ट्रंप 43 प्रतिशत एक कड़े मुकाबले में हैं। सर्वेक्षण के आंकड़ों से उत्साहित ट्रंप ने संबोधन के लिए कई नए स्थानों की घोषणा कर दी है, जिनमें डेमोक्रेट लोगों का मिनेसोटा जैसा गढ़ भी शामिल है। औसतन ट्रंप पांच रैलियों को संबोधित करेंगे।

About indianz xpress

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest

Share This