Friday , June 21 2024 4:06 PM
Home / News / ऐसे अपनी भड़ास निकाली टेड क्रूज ने

ऐसे अपनी भड़ास निकाली टेड क्रूज ने

tedcruze-ll
रिपब्ल्किन पार्टी की क्लीवलैंड में हो रही कन्वेन्शन में किसी को उम्मीद ही नहीं थी कि पार्टी का ही एक प्रतिनिधि जीत की ओर बढ़ रहे मजबूत उम्मीदवार के खिलाफ मोर्चा खोल देंगे। कभी अमरीका के राष्ट्रपति पद के चुनाव की होड़ में शामिल टैक्सास के सीनेटर टेड क्रूज ने ट्रंप का समर्थन करने से इंकार कर दिया। उन्होंने मतदाताओं से अपील कि वे पहले अपनी अतंर आत्मा की आवाज को सुनें, फिर वोट करें। हालांकि उन्होंने ओबामा और हिलेरी क्लिंटन की जमकर आलोचना की, ट्रंप की कुछ नीतियों का समर्थन किया। लेकिन इससे भी उनके प्रति अन्य रिपब्ल्किन्स का विरोध शांत नहीं हुआ। उनके खिलाफ जमकर नारे लगाए गए। उन्हें स्वार्थी कहा गया।

भारी पड़ी अपील
मंच पर दिए गए क्रूज के भाषण पर डोनाल्ड ट्रंप जूनियर ने प्रतिक्रिया व्यक्त कि वे जानते थे टेड उनके पिता का समर्थन करने वाले नहीं हैं। उनके भाषण को मंच पर जाने से पहले ही देख लिया गया था। सब जानते थे कि वे क्या आग उगलने वाले हैं। हालांकि क्रूज ने किसी का नाम लिए बिना इस पर जोर दिया था कि वोट देते समय अपने अंदर की आवाज को जरूर सुनें। लेकिन उन्हें यह अपील करना भारी पड़ गया और अधिकतर लोगों ने उन्हें कोसना शुरू कर दिया।

क्रूज का अक्खड़पन
ये वही टेड क्रूज हैं जिन्हें कुछ महीने पहले ट्रंप ने सलाह दी थी कि उनकी पत्नी इतनी आकर्षक नहीं है, उनके पिता का जेएफ कैनेडी की हत्या में हाथ था। उनसे ऐसे व्यक्ति को समर्थन देने की उम्मीद कैसे की जा सकती है। गुस्ताखी करना ट्रंप की सबसे बड़ी विशेषता है। पर ये क्रूज थे, जो ट्रंप के अभियान के दौरान अपना अक्खड़पन दिखा गए। उन्होंने स्पष्ट रूप से ट्रंप को समर्थन देने से इंकार कर दिया।

इस अनदेखी का कारण
टेड क्रूज ने यह कहकर अपनी बटी हुई पार्टी को एक करने का प्रयास भी किया कि डोनाल्ड ट्रंप को वोट दें। आलोचना होने के बावजूद उन्होंने दिखा दिया कि अकेला और अलोकप्रिय होने का उन्हें कोई अफसेास नहीं है। अपनी पत्नी और पिता पर व्यक्तिगत हमला करने वाले उम्मीदवार को वह कैसे समर्थन दे सकते थे। वह लोगों से यह अपील जरूर करके गए कि नवंबर में अपने घरों में मत बैठे रहें। यदि आपको अपने देश से प्यार हे तो उतना ही प्यार अपने बच्चों से करें। बाहर आएं और अपनी अंतर आत्मा की आवाज सुनकर वोट दें।

दुश्मनी मोल ले ली
मंच पर जो रवैया क्रूज ने दिखाया वह उनके राजनीतिक करियर के अहम क्षणों को निर्धारित कर गया। जिन लाखों लोगों ने ट्रंप को राष्ट्रपति पद के लिए नामांकित किया था उनसे उन्होंने दुश्मनी मोल ले ली। न्यूयार्क के निवासी ट्रंप हारें या जीते, पर क्रूज को इस रवैये की उन्हें कीमत चुकानी पड़ सकती है।

गर्म हो गया माहौल
तीन दिन तक चलने वाली इस कन्वेन्शन में एकजुट होने का अच्छा माहौल देखा गया, लेकिन क्रूज के आने के बाद हालात ही बदल गए। तभी टैक्सास के प्रतिनिधि शाओन आयरलैंड गुस्से से भड़क गए और उल्टा टेड पर ही आरोप लगाने लगे। पार्टी को चंदा देने वाले अरबपति शेल्डन ऐडेल्सन ने क्रूज को मंच से हटा दिया। इसके बाद भीड़ ने उनके लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।

पिता और पार्टी की तारीफ
कन्वेन्शन में लोगों ने जैसी प्रतिक्रिया दिखाई इस पर जूनियर ट्रंप का कहना था कि रिपब्ल्किन पार्टी में एकता कायम है। फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में उनका कहना था कि जिस प्रकार हर कोई टेड क्रूज की आलोचना कर रहा था इससे जाहिर होता है कि सबका एक ही लक्ष्य है कि हिलेरी क्लिंठन को हराना है। यदि ट्रंप को लग रहा था कि क्रूज उन्हें समर्थन नहीं देने वाले तो उन्हें मंच पर आने का मौका ही क्यों दिया गया। इसका जवाब जूनियर ने यह कह कर दिया कि उसके पिता नहीं चाहते कि किसी को बोलने का मौका ही न मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *