Wednesday , May 18 2022 8:26 AM
Home / Spirituality / जानिए किस पेड़ पर कौन से देवता करते हैं वास, कब करनी चाहिए पूजा

जानिए किस पेड़ पर कौन से देवता करते हैं वास, कब करनी चाहिए पूजा

प्रकृति को भी देवताओं का रूप माना गया है और प्रकृति से जुड़ी चीजों को देवी-देवताओं से संबंधित माना जाता है। आज हम बात करने जो रहे हैं विभिन्‍न पेड़-पौधों के बारे में। कुछ पेड़ों पर देवताओं का वास माना जाता है। आज हम ऐसे ही कुछ खास पेड़ों के बारे में बात करने जा रहे हैं और यह भी बताएंगे कि उन पर कौन से देवी-देवताओं का वास होता है।
आंवला, तुलसी और केला : आंवला, तुलसी और केले के पेड़ पर भगवान विष्‍णु और माता लक्ष्‍मी का वास माना जाता है। वैसे तो तुलसी के पेड़ पर दीपक रोजाना ही जलाना चाहिए। वहीं आंवले की पूजा एकादशी पर करने से भगवान विष्‍णु प्रसन्‍न होते हैं। वहीं केले के पेड़ की पूजा हर बृहस्‍पतिवार को की जाती है। प्रत्‍येक बृहस्‍पतिवार को केले के पेड़ पर हल्‍दी मिला जल चढ़ाने से आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है।
बेल और बरगद का पेड़ : बेल और बरगद के पेड़ पर भगवान शिव वास करते हैं। रोजाना भगवान शिव की पूजा में बेलपत्र अर्पित करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। वहीं ऐसी मान्‍यता है कि बरगद के पेड़ की पूजा हर त्रयोदशी को करना बेहद शुभ माना जाता है।
शमी का पेड़ : शमी के पेड़ पर हर शनिवार को सरसों के तेल का दीपक जलाने से आपके घर में हर प्रकार की मुसीबत टलती है। आपको सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है और सारी बुरी शक्तियों का नाश होता है। शमी के पेड़ का पत्‍ता रोजाना शंकरजी को चढ़ाने से भोलेबाबा प्रसन्‍न होते हैं।
कदंब का पेड़ : कदंब के पेड़ पर मां लक्ष्‍मी का वास माना जाता है। ऐसी मान्‍यता है कि कदंब के पेड़ के नीचे बैठकर यज्ञ करने से मां लक्ष्‍मी जी की विशेष कृपा प्राप्‍त होती है और परिवार में खुशियों का आगमन होता है।
दूब घास : कहते हैं दूब घास गणपति बप्‍पा को सबसे ज्‍यादा प्रिय होती है। हर बुधवार को हल्‍दी लगाकर दूब घास गणेशजी को अर्पित करने से आपके काम में आ रही हर प्रकार की बाधाएं दूर होती हैं और आपको शुभ लाभ की प्राप्ति होती है।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This