Thursday , July 25 2024 9:49 AM
Home / Spirituality / शनि की क्रूर दृष्टि नहीं करेगी परेशान, लक्ष्मी बसाएंगी आपका घर-संसार

शनि की क्रूर दृष्टि नहीं करेगी परेशान, लक्ष्मी बसाएंगी आपका घर-संसार

1
शनिदेव के प्रिय दिन शनिवार (12 नवंबर) को त्रयोदशी तिथि पड़ने से शनि प्रदोष व्रत का शुभ संयोग बन रहा है। सोमवार, मंगलवार एवं शनिवार के प्रदोष व्रत अत्यधिक प्रभावकारी माने गए हैं। इस दिन किया गया कुछ खास भर सकता है आपके धन का भंडार और छुड़ा सकता है आपको पुराने से पुराने रोग की गिरफ्त से तो आईए जानें कैसे करें शनि देव को प्रसन्न और पा लें उनसे मनवंछित फल।

शनि की क्रूर दृष्टि नहीं करेगी परेशान, लक्ष्मी बसाएंगी आपका घर-संसार

– चावल शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

– तिल शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से पाप का नाश होता है।

– जौं शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से सुख में वृद्धि होती है।

– गेंहू शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से संतान के सुखों में वृद्धि होती है।

– मूंग शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से मानसिक सुख मिलते हैं तथा बुद्धि तीव्र होती है।

– उड़द शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से मुकद्दमों में जीत मिलती है।

– राई शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से शत्रुओं पर विजय मिलती है।

इन सभी अनाजों को शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पण करने के बाद गरीबों में वितरित कर देना चाहिए।

इस विशेष लेख के माध्यम से जानते हैं के किस फूल को शिवलिंग और शनिदेव पर चढ़ाने पर इष्ट कृपा प्राप्त होती है।

– धतुरे के पुष्प शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से संतान की प्राप्ति होती है।

– आंकड़ें के फूल शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से लंबी आयु की प्राप्ति होती है।

– बिल्वपत्र शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से हर इच्छित वस्तु की प्राप्ति होती है।

– जपाकुसुम शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से शत्रु का नाश होता है।

– बेला शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से सुंदर सुयोग्य जीवनसाथी की प्राप्ति होती है।

– हरसिंगार शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से सुख-संपत्ति की प्राप्ति होती है।

– दुपहरियां के पुष्प शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से आभूषणों की प्राप्ति होती है।

– शमी पत्र शिवलिंग और शनिदेव पर अर्पित करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *