Sunday , December 5 2021 8:47 PM
Home / News / India / एक सुर में बोले भारत व आर्मेनिया, आतंकवाद पर दोहरा मापदंड मंजूर नहीं

एक सुर में बोले भारत व आर्मेनिया, आतंकवाद पर दोहरा मापदंड मंजूर नहीं


येरेवान(आर्मेनिया) : भारत और आर्मेनिया ने द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए आज 3 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी की आर्मेनिया के प्रधानमंत्री कैरेन कारापेत्यान, राष्ट्रपति सर्जेई सार्गसियान और विदेश मंत्री एडवर्ड नलबांडियन के साथ बातचीत के बाद ये समझौते हुए।

बातचीत के दौरान भारत और आर्मेनिया एक सुर में बोले कि आतंकवाद के मसले पर दोहरा मापदंड नहीं मंजूर किया जा सकता और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को इस मसले पर एकजुट होकर आवाज उठानी होगी। आतंकवाद को किसी भी तरह जायज नहीं ठहराया जा सकता। बातचीत के दौरान आर्मेनिया ने रेखांकित किया कि वह संयुक्त राष्ट्र समेत हर संस्था में भारत का समर्थन करता है। भारत और आर्मेनिया के बीच हुए समझौतों में सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देने के साथ युवा मामलों में पारस्परिक आदान-प्रदान तथा अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग शामिल है। इस संबंध में जल्दी ही ज्वाइंट वर्किंग ग्रुप की बैठक होगी।

भारत उपग्रह के निर्माण, रिमोट सैंसिंग डाटा और वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित करने के मामले में आर्मेनिया की मदद करेगा। दोनों पक्ष वीजा नियमों को उदार बनाने की जरूरत पर भी सहमत हुए। उनमें ब्रॉडकास्टिंगऔर फिल्म सैक्टर में भी सहयोग बढ़ाने पर सहमति बनी है। बाद में उप-राष्ट्रपति अंसारी ने आर्मेनिया के राष्ट्रपति को भारत आने का न्यौता देने संबंधी राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का पत्र सौंपा जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। इस बारे में तिथि एक-दूसरे की सुविधा के अनुरूप तय होगी। अंसारी ने आर्मेनियाई जेनोसाइड मैमोरियल एंड म्यूजियम का भी दौरा किया और पीड़ितों को श्रद्धांजलि दी।

उप-राष्ट्रपति ने की नक्सली हमले की निंदा
उप-राष्ट्रपति अंसारी ने सुकमा में सी.आर.पी.एफ. के जवानों पर कल हुए नक्सली हमले की निंदा की। अंसारी ने कहा, ‘‘इस हमले के दोषियों को पकड़ कर दंडित किया जाना चाहिए। हमले के बारे में जानकर काफी दुख हुआ है।’’

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This