Wednesday , June 3 2020 1:00 AM
Home / Entertainment / कोरोना का असर: लॉकडाउन के कारण रिलीज नहीं हुईं फिल्में, 93 साल में पहली बार 4 महीने आगे बढ़े ‘ऑस्कर अवॉर्ड्स’

कोरोना का असर: लॉकडाउन के कारण रिलीज नहीं हुईं फिल्में, 93 साल में पहली बार 4 महीने आगे बढ़े ‘ऑस्कर अवॉर्ड्स’


दुनियाभर में फैले कोरोना संक्रमण का असर हर जगह पर देखने को मिल रहा है। इस वायरस का असर इंटरटेरमेंट इ्ंडस्ट्री में भी देखने को मिला। इस वायरस की वजह से कई अवार्ड शो भी कैंसिल हो गए हैं। मेट गाला इवेंट और कान्स फिल्म फेस्टिवल के कैंसल होने के बाद आब खबरें हैं कि 1929 से शुरू हुई ऑस्कर अवॉर्ड सेरेमनी इस साल पोस्टपाॅन की जा सकती है।

एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज फरवरी में होने वाले 93वें ऑस्कर अवॉर्ड सेरेमनी को पोस्टपाॅन करने पर विचार कर रही है। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार निश्चित तौर पर इस बारे में अभी कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है। खबरें हैं कि 28 फरवरी 2021 को होने वाला ऑस्कर पुरस्कार समारोह अब मई-जून 2021 तक बढ़ा दिया गया है।
जानकारी के लिए बता दें कि ऑस्कर के लिए एंट्रीज भेजने की तैयारी मार्च-अप्रैल के बाद शुरू हो जाती है और नवम्बर-दिसंबर तक नॉमिनेशन को शॉर्ट लिस्ट किया जाता है। वहीं जूरी के सदस्य जनवरी में वोटिंग करते हैं। लॉकडाउन की वजह से बॉण्ड सीरीज की नो टाइम टू डाई, टॉप गन मेवरिक, मुलन और ब्लैक विडो जैसी बड़ी फिल्मों की रिलीज डेट बढ़ा दी गई है।
पिछले महीने अकेडमी ने शेड्यूल पर अपडेट दिया था। इसमें कहा गया था कि इस साल रिलीज हो चुकी फिल्में 2022 तक के लिए नॉमिनेशन दे सकती हैं। ऐसा इसलिए भी किया गया था ताकि मेकर्स इन फिल्मों को इस साल के आखिर या अगले साल रिलीज कर सकें। साथ ही उनमें यह भरोसा बना रहे कि उनकी फिल्में ऑस्कर में भेजे जाने के काबिल हैं। वहीं ऑस्कर अकेडमी ने महामारी के मद्देनजर कुछ नियमों को बदल दिया। हालांकि, यह बदलाव स्थायी नहीं है। ये बदलाव या नियम सिर्फ इस साल रिलीज होने वाली फिल्मों पर ही लागू होंगे। एकडेमी ने यह भी बताया था कि नॉमिनेशन कैटेगरीज भी घटाकर 23 की गई हैं। बता दें कि लाॅकडाउन की वजह से कई फिल्में रिलीज नहीं हो पाई हैं।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This