Saturday , September 25 2021 2:12 PM
Home / Business & Tech / कभी हैक नहीं होगा Gmail अकाउंट, अच्छे से अच्छा हैकर खा जाएगा चक्कर, बेहद दमदार है गूगल की यह सर्विस

कभी हैक नहीं होगा Gmail अकाउंट, अच्छे से अच्छा हैकर खा जाएगा चक्कर, बेहद दमदार है गूगल की यह सर्विस


इंटरनेट के चलते आज उन सभी कार्यों को आसानी से किया जा सकता है जिन्हें करने के बारे में सोचना भी कभी मुश्किल था। जी हां, टेक दिग्गज के Gmail का इस्तेमाल दुनियाभर में किया जाता है। इंटरनेट का इस्तेमाल जितना ज्यादा बढ़ रहा है तो उससे हैकिंग की घटनाएं भी ज्यादा होती जा रही हैं।
इंटरनेट के चलते आज उन सभी कार्यों को आसानी से किया जा सकता है जिन्हें करने के बारे में सोचना भी कभी मुश्किल था। जी हां, आज के समय में ऐसा हो सकता है। इंटरनेट का इस्तेमाल जितना ज्यादा बढ़ रहा है तो उससे हैकिंग की घटनाएं भी ज्यादा होती जा रही हैं। हैकिंग की समस्या से छुटकारा देने के लिए Google नई सर्विस लेकर आई है। Gmail में ब्रांड लोगो नाम से एक सेफ्टी सर्विस है जिसे पहली बार जुलाई में पेश किया गया था जो कि आने वाले हफ्तों में शुरू कर दिया जाएगा।
इसके बारे में Google ने जानकारी देकर बताया कि गूगल के मुताबिक इस फीचर में ब्रांड इंडिकेटर फॉर मैसेज आइडेंटिफिकेशन (BIMI) का इस्तेमाल किया गया है। इसकी मदद से ईमेल को ज्यादा सुरक्षा मिलेगी। तो चलिए जानते हैं Gmail की इस सर्विस के बारे में।
क्या है Gmail का नया फीचर: इस नए फीचर की बदौलत किसी ऑर्गेनाइजेशन का लोगो इमेल भेजने पर यूजर्स के इनबॉक्स में नजर आएगा। इस नई सर्विस में डोमेन बेस्ड मैसेज सर्टिफिकेशन रिपोर्टिंग और DMRC नाम की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए फिशिंग ईमेल को कम करने में मदद मिलती है। गूगल 2019 में BIMI के लिए वर्क ग्रुप में शामिल हुआ था। आपको बता दें कि उन कंपनियों के लोगो नजर आएंंगे जो कि ईमेल को सर्टिफाइड करने के लिए सेंडर पॉलिसी फ्रेमवर्क या डोमेन की आइडेंटिफाई मेल का इस्तेमाल करती हैं। एसपीएफ और डीकेआईएम ईमेल सर्टिफिकेशन टेक्नोलॉजी हैं। इनका इस्तेमाल स्पैमर को कंट्रोल करने के लिए किया जाता है।
गूगल ने बताया कि जब एक बार ये सर्टिफाइड ईमेल हमारे सभी नियमों को पास करते हैं तो GMAIL UIM में स्थित स्लॉट में लोगो शो करना शुरू कर देता है। इसमें लोगो आने वाले छोटे सर्कुलर डिजाइन स्लॉट में नजर आते हैं। Gmail पर एक ईमेल के जरिए प्राप्त करने वाले के इनबॉक्स में एक अलग तौर पर नजर आता है। इसके जरिए कंपनियों को अपने न्यूजलेटर्स को सर्टिफाइड करने और ईमेल पेशकश समेत काफी कुछ करने में मदद करता है। इसके जरिए स्पैम और फिशिंग आदि को खत्म किया जा सकता है।

About indianz xpress

Pin It on Pinterest

Share This